September 20, 2020

बीमा कंपनियों ने लॉन्च की कोरोना कवच पॉलिसी

5 लाख तक बीमा राशि होगी

नई दिल्ली, (एजेंसी)। कई बीमा कंपनियों ने कल कोविड-19 इलाज के खर्च को कवर करने को लेकर शॉर्ट टर्म के लिए कोरोना कवच स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी पेश की हैं। बीमा नियामक इरडा की समयसीमा का पालन करते हुए बीमा कंपनियों ने यह कदम उठाया है। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (इरडा) ने साधारण और स्वास्थ्य बीमा कंपनियों से 10 जुलाई तक कोरोना कवच स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी पेश करने को कहा था। इरडा के दिशा निर्देश के अनुसार शॉर्ट टर्म के लिए पॉलिसी साढ़े तीन महीने, साढ़े छह महीने और साढ़े नौ महीने के लिए हो सकती है। इसमें बीमा राशि 50 हजार से लेकर 5 लाख रुपए तक (50,000 रुपए के मल्टिपल में) है। नियामक के अनुसार प्रीमियम भुगतान एक बार करना होगा और पूरे देश में प्रीमियम राशि समान होगी। कोरोना कवच पॉलिसी की शुरूआत करते हुए एचडीएफसी ईआरजीओ ने कहा कि नई स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी के तहत सरकारी मान्यता प्राप्त जांच घर में जांच के बाद कोरोना संक्रमण का मामला पाया जाता है तो उसके इलाज में अस्पताल में भर्ती होने का चिकित्सा खर्च का वहन किया जाएगा। कंपनी के अनुसार मरीज को अगर कोविड-19 के साथ अन्य बीमारी है तो वायरस संक्रमण के साथ उस पर होने वाले इलाज का खर्च भी इसके दायरे में आएगा। इसमें वायरस के कारण अस्पताल में भर्ती होने पर रोड एम्बुलेंस का खर्च भी दायरे में आएगा। कंपनी के अनुसार पॉलिसी में घरों में 14 दिन के देखभाल का खर्च भी शामिल है।

उम्र और बीमा राशि पर प्रीमियम निर्भर
बजाज जनरल इंश्योरेंस ने भी इस प्रकार की बीमा पॉलिसी पेश की है। कंपनी ने मूलभूत बीमा कवर के लिए प्रीमियम 447 से लेकर 5,630 रुपए तय की है। इस पर जीएसटी अलग से लगेगा। बीमा प्रीमियम व्यक्ति की उम्र, बीमा राशि और अवधि पर निर्भर है। मैक्स बुपा का कोरोना पॉलिसी का प्रीमियम प्रतिस्पर्धी है। 31 से 55 साल के व्यक्ति के लिए 2.5 लाख रुपए की पॉलिसी का प्रीमियम 2,200 रुपए है। इसी उम्र के दो वयस्कों और दो बच्चों के लिए प्रीमियम 4,700 रुपए है।