September 23, 2020

ब्रह्मांड में हुई महाभिड़ंत

नौ सूर्यों के बराबर छूट गई उर्जा, पृथ्वी पर भी पहुंची आंच

नई दिल्ली, 15 सितम्बर (एजेंसी)। कल्पना कीजिए कि नौ सूरज अपनी ऊर्जा एक साथ छोड़ दें तो क्या होगा! ऐसी घटना हमारे ब्रह्मांड में घटी और उसकी आंच हमारी पृथ्वी ने भी महसूस की। यह आंच एक तीव्र ऊर्जा लहर अथवा ‘ग्रेविटेशनल वेव’ के रूप में आई, जो दो बड़े ब्लैक होल्स के महाविलय से उत्पन्न हुई। इस घटना के सिग्नल ने पृथ्वी पर पहुंचने के लिए सात अरब साल का सफर पूरा किया।

सिग्नल से हिल गए अमेरिका-इटली के लेजर डिटेक्टर
अरबों वर्ष का सफर तय करने के बावजूद यह सिग्नल इतना ज्यादा शक्तिशाली था कि पिछले साल अमेरिका और इटली में तैनात लेजर डिटेक्टर हिल गए। यह घटना पिछले साल 21 मई को हुई थी, जिसकी विस्तृत रिसर्च रिपोर्ट अभी हाल में ही आई है। रिसर्चरों का कहना है कि दो ब्लैक होल्स के विलय से एक बड़ा ब्लैक होल बना, जिसका द्रव्यमान सूर्य से 142 गुना ज्यादा था। टक्कर के दौरान करीब नौ सूर्यों के बराबर पदार्थ ऊर्जा में बदल गया। ब्लैक होल अंतरिक्ष का वह क्षेत्र है जहां गुरुत्वाकर्षण खिंचाव इतना तगड़ा होता है कि इसमें से कोई चीज बाहर नहीं है।