September 25, 2020

भारतीय सेना में अहीर रेजिमेंट बनवाने की मांग

कोटपूतली, 7 सितंबर। भारतीय सेना में अहीर रेजिमेंट के गठन की मांग को लेकर अखिल भारतीय यादव महासभा राजस्थान के पदाधिकारियों ने कार्यकारी अध्यक्ष व मिशन के राष्ट्रीय संयोजक सांवलराम यादव के नेतृत्व में राज्यमंत्री राजेन्द्र सिंह यादव को ज्ञापन सौंपकर इस सम्बंध में देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को पत्र भेजने की मांग की। यादव ने इस मांग का समर्थन करते हुए शीघ्र ही इस बाबत रक्षा मंत्री को पत्र लिखने का आश्वासन भी दिया। साथ ही रेजिमेंट के गठन में हर सम्भव सहयोग व समर्थन करने की बात भी कहीं। इस दौरान महिला मोर्चा प्रदेश महासचिव डॉ. सुनीता यादव, उपाध्यक्ष कल्पना यादव, पूनम यादव, मीडिया प्रभारी कमलेश यादव, जयपुर सम्भाग अध्यक्ष डॉ. अरविन्द यादव, सम्भाग मंत्री रघुवीर यादव, सीकर जिलाध्यक्ष बन्नालाल यादव, तिलकराज यादव, भूपेन्द्र यादव आदि मौजूद थे।

रेजांगला युद्ध में अहम थी अहीर सैनिकों की भुमिका: ज्ञापन में बताया कि यादव समाज हमेशा ही राष्ट्रहित में देश की सीमाओं की रक्षा में अपना अहम योगदान देते हुए विभिन्न युद्धों में अदम्य साहस, शौर्य का परिचय देते हुए प्राणों की आहुति देता रहा हैं। वर्ष 1962 के भारत-चीन युद्ध में भी अहीर सैनिकों ने लद्दाख के रेजांगला में चीनी सैनिकों को धुल चटाई थी। यहीं नहीं 1857 के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम से लेकर प्रथम व द्वितीय विश्वयुद्ध, 1948 के कबायली युद्ध, 1965 व 1971 के भारत-पाक युद्ध, 1984 में शांति सेना, 1999 में कारगिल युद्ध में अपने प्राणों का बलिदान दिया हैं। वर्ष 1857 के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम में तो राव तुलाराम के नेतृत्व में हरियाणा के नारनौल स्थित ग्राम नसीबपुर में 5 हजार यादव वीर अंग्रेजों के साथ हुए संघर्ष में शहीद हुए थे। इसके बावजूद भी अभी तक भारतीय सेना में अहीर रेजिमेंट का गठन नहीं किया हैं।