October 28, 2020

भारत पहुंचा प्रधानमंत्री- राष्ट्रपति का अभेद्य किला

नई दिल्ली, 2 अक्टूबर (एजेंसी)। भारत के वीवीआइपी बेड़े के लिए एयर इंडिया वन का इंतजार खत्म हो गया है। एयर इंडिया वन गुरुवार को दिल्ली इंटरनेशल हवाई अड्डे पर पहुंच गया है। राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधान मंत्री के लिए दो वीवीआईपी एयर इंडिया वन विमानों में से पहला विमान गुरुवार को भारत आ गया है। भारत के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के लिए खरीदे गए दो बोइंग-777 विमान तैयार हो गए हैं। भारत को मिलने वाले इन दो नए विमानों का इस्तेमाल प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति की उड़ान के लिए किया जाएगा, जिसे वायु सेना के पायलट उड़ाएंगे। सरकारी सूत्रों ने बताया है कि एयर इंडिया वन अग्रिम और सुरक्षित संचार प्रणाली से लैस है जो हैक या टैप किए बिना मध्य-हवा में ऑडियो-वीडियो संचार फंक्शन का लाभ उठा सकता है।

क्या है खासियत
इन दोनों विमानों को भारतीय वायुसेना के पायलट ऑपरेट करेंगे। विमानों का मेंटेनेंस एयर इंडिया इंजीनियरिंग सर्विसेज लिमिटेड द्वारा किया जाएगा। विमानों की आपूर्ति पहले जुलाई में होनी थी लेकिन कोरोना महामारी के कारण नहीं हो पाई। प्रधानमंत्री और राष्ट्रपतिए उप राष्ट्रपति के लिए बनाया गया ये खास विमान कई खूबियों से लैस है। इसमे मिसाइल एप्रोच वार्निंग सिस्टम लगाया गया है जिसमें लगे सेंसर की मदद से पायलट को मिसाइलों पर हमला करने में मदद मिलती है। इसके अलावा विमान में इलेक्ट्रोनिक वॉरफेयर जैमर लगा होता हैजिससे दुश्मन के जीपीएस और ड्रोन सिग्नल को ब्लॉक करने में मदद मिलती है। एयर इंडिया वन विमान में डायरेक्शनल इंफ्रारेड काउंटरमेजर सिस्टम लगा होता है। यह एक मिसाइल रोधी सिस्टम है जो विमान को इंफ्रारेड मिसाइल से बचाती है। एयर इंडिया वन विमान में डायरेक्शनल इंफ्रारेड काउंटर मेजर सिस्टम लगा होता है। यह एक मिसाइल रोधी सिस्टम है जो विमान को इंफ्रारेड मिसाइल से बचाती है। इसके अलावा विमान की कुछ और खासियतों में चाफ एंड फ्लेयर्स प्रणाली है जो रडार ट्रैकिंग मिसाइल से खतरा होने पर विमान को सुरक्षा प्रदान करती है।

अभी 747 विमान से यात्रा
फिलहाल देश में प्रधानमंत्री राष्ट्रपति और उप राष्ट्रपति एयर इंडिया के 747 विमान से यात्रा करते हैं। प्रधानमंत्री और अन्य वीवीआइपी लोगों द्वारा इस्तेमाल होने वाले इन विमानों को एयर इंडिया वन कहा जाता है।