Thu. Dec 12th, 2019

महाराष्ट्र में बना सरकार का फॉर्मूला!

उद्धव होंगे सीएम, एनसीपी-कांग्रेस के हिस्से में डिप्टी सीएम का पद

दिनेश तिवारी

नई दिल्ली, 19 नवम्बर। महाराष्ट्र में चल रहे सियासी घमासान को लेकर अब कुछ स्थिति साफ होती नजर आ रही है हालांकि, कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से सोमवार को मुलाकात के बाद एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि सरकार बनाने को लेकर उनकी कोई बातचीत नहीं हुई है फिर भी सूत्रों का कहना है कि तीन पार्टियों के गठबंधन को लेकर बातचीत साफ हा गई है और नई सरकार दिसंबर की शुरुआत तक अपना काम संभाल लेगी। इस दौरान शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे मुख्यमंत्री होंगे और एनसीपी-कांग्रेस के पास दो डिप्टी सीएम के पद रहेंग। सूत्रों का कहना है कि इस बात पर भी कोई दो राय नहीं है कि उद्धव ही पूरे पांच साल के लिए महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रहेंगे और इस दौरान कोई भी रोटेशनल पॉलिसी नहीं होगी।

जितनी सीटें उतने मंत्री पद: खबर के अनुसार 42 मंत्रीपद भी पार्टियों की सीटों के हिसाब से ही तय होंगे। सूबे में शिवसेना ने 56 सीटें जीती हैं, वहीं एनसीपी को 54 और कांग्रेस के हाथ 44 सीटें आई हैं। इस हिसाब से मंत्रीपद भी 15, 14 और 13 के अनुपात तय करने की संभावना है। वहीं शिवसेना ने स्पीकर के पद के लिए फैसला कांग्रेस और एनसीपी पर छोड़ दिया है। बताया जा रहा है कि इसके लिए पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण का नाम सामने आ रहा है। बताया जा रहा है कि यह पूरा स्ट्रक्चर एनसीपी चीफ शरद पवार का ही डिजाइन किया हुआ है। महाराष्ट्र में गैर बीजेपी सरकार बनाने के लिए वे पूरी तरह से तैयार हैं लेकिन उन्होंने मीडिया के सामने इस संबंध में कोई भी पत्ते नहीं खोले हैं। उन्होंने सिर्फ इतना कहा कि सोनिया गांधी के साथ उन्होंने केवल महाराष्ट्र की राजनीतिक परिस्थिति को लेकर बातचीत की है। हम सभी स्थिति को देख रहे हैं और उसी के हिसाब से आगे की कार्रवाई करेंगे।

जल्द ही दिल्ली आ सकते हैं उद्धव
सूत्रों ने बताया कि अब सरकार निर्माण को लेकर चर्चा करने के लिए उद्धव जल्द ही दिल्ली भी आ सकते हैं। वहीं एक नई बात जो सामने आई है वह है कि उद्धव ने संभावित गठबंधन को देखते हुए ही 24 नवंबर की अपनी अयोध्या यात्रा को स्थगित किया है, क्योंकि ऐसा कर वे कोई गलत संदेश कांग्रेस या एनसीपी को नहीं देना चाहते हैं।

संजय राउत ने ट्वीट कर दिया संकेत
संजय राउत ने एक बार फिर आज दिन की शुरुआत ट्वीट के साथ की है। आज सुबह उन्होंने लिखा कि अगर जिंदगी में कुछ पाना हो तो तरीके बदलो इरादे नहीं, जय महाराष्ट्र! उनका ट्वीट इस बात के संकेत दे रहा है कि शिवसेना सरकार बनाने के लिए हर तरह के विकल्प पर कदम बढ़ाने को तैयार है। इससे पहले राउत ने शरद पवार के बयान पर कहा था, सरकार बनाने की जिम्मेदारी शिवसेना की नहीं थी। यह जिनकी जिम्मेदारी थी, वे भाग निकले हैं। सोनिया गांधी और शरद पवार की मुलाकात के बाद से जिस रास्ते को तलाशा जा रहा है, उसकी भूमिका तैयार करने के लिए आज एनसीपी-कांग्रेस के नेता साथ बैठेंगे। अजित पवार, जयंत पाटिल, प्रफुल पटेल समेत एनसीपी के अन्य नेता दिल्ली में आज कांग्रेस के अशोक चव्हाण, पृथ्वीराज चव्हाण और बालासाहेब थोराट से मिलेंगे।