Fri. Mar 22nd, 2019

मुठभेड़ में नोएडा के भाटी गैंग का शार्प शूटर सहित 4 बदमाश धरे

फरीदाबाद (निसं.)। ग्रेटर नोएडा सहित पश्चिमी यूपी में सक्रिय रणदीप भाटी गैंग के शार्प शूटर तेजेंदर उर्फ बिट्टू समेत चार बदमाशों को मुठभेड़ के दौरान क्राइम ब्रांच सेक्टर 65 ने गिरफ्तार किया है। इनके कब्जे से गाड़ी व हथियार भी बरामद हुए हैं। पुलिस ने जब उन्हें पकडऩे का प्रयास किया तो बदमाशों ने पुलिस पर जान से मारने की नियत से गोली चलाई। गनीमत रही कि किसी पुलिस कर्मी को गोली नहीं लगी। हिस्ट्रीशीटर अधानापट्टी तिगांव का रहने वाला है। इस पर फरीदाबाद और पलवल के थानों में लूट और हत्या के प्रयास के आधा दर्जन से अधिक केस दर्ज हैं। वह काफी समय से फरार चल रहा था। पकड़े गए बदमाशों की पहचान अधाना पट्टी तिगांव निवासी तेजेंद्र उर्फ बिट्टू, न्यू मंगोलपुरी नियर छतरपुर मेट्रो स्टेशन दिल्ली निवासी कमल, भारत नगर दिल्ली निवासी पंकज और डबुआ कॉलोनी फरीदाबाद निवासी योगेश के रूप में हुई है। क्राइम ब्रांच सेक्टर 65 के प्रभारी लाजपत और सेक्टर 85 प्रभारी सुमेर सिंह को सूचना मिली कि नोएडा के रणदीप भाटी गैंग का शॉर्प शूटर तेजिंदर उर्फ बिट्?टू गुर्जर अपने साथियों के साथ किसी वारदात को अंजाम देने के लिए मोहना छांयसा रोड से गुजरने वाला है। इसके बाद दोनों क्राइम ब्रांच की टीमों ने स्वास्तिक पेट्रोल पंप के पास घेराबंदी कर ली। शाम करीब 4 बजे हिस्ट्रीशीटर अपने छह अन्य साथियों के साथ स्कार्पियों से आता दिखाई दिया। मुखबिर के इशारे पर पुलिस ने उक्त गाड़ी को रुकने का इशारा किया तो बदमाशों ने तमंचे से फायर करते हुए गाड़ी को टक्कर मारकर भागने का प्रयास किया। पहले से ही सतर्क क्राइम ब्रांच की टीमों ने घेराबंदी कर हिस्ट्रीशीटर समेत 4 बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। जबकि इनके तीन साथी तिगांव निवासी नरेश, सचिन और खेड़ी निवासी सचिन भागने में कामयाब रहे।

हत्या व हत्या प्रयास के 7 केस दर्ज हैं
हिस्ट्रीशीटर तेजेंदर उर्फ बिट्टू पर फरीदाबाद, पलवल और गुडग़ांव में हत्या व हत्या के प्रयास के सात मुकदमे दर्ज हैं। यह फरीदाबाद पुलिस का वांछित अपराधी है। पुलिस ने इनके कब्जे से स्कार्पियो और तमंचा बरामद किया है। बिट्?टू गुर्जर नोएडा, ग्रेटर नोएडा समेत पश्चिमी यूपी में सक्रिय रणदीप भाटी गैंग का शार्प शूटर है। भाटी गैंग के इशारे पर ही वह वारदातों को अंजाम देता है। प्रवक्ता के अनुसार पुलिस ने चारों को कोर्ट में पेश कर बिट्टू को पुलिस रिमांड पर ले लिया है। बाकी तीनों को जेल भेज दिया।

यह है रणदीप भाटी गैंग का इतिहास
यूपी के गौतमबुद्ध नगर में ग्रेटर नोएडा के रिठौरी का रहने वाला नरेश भाटी और घंघौला के सुंदर भाटी के दो गैंग संचालित हैं। दोनों गैंग आमने-सामने रहते हैं। सुंदर भाटी ने नरेश भाटी की हत्या कर दी थी। इसके बाद नरेश भाटी गैंग की कमान उसके भाई रणपाल ने संभाल ली। रणपाल भाटी को पुलिस ने सिकंदराबाद में एनकाउंटर में मार दिया। रणपाल के एनकाउंटर के बाद गैंग की कमान उसके भाई रणदीप भाटी और भांजा अमित कसाना ने संभाल ली। दोनों ने गैंग में शूटरों को भरना शुरू किया। साथ ही गैंग का विस्तार किया। रणदीप का मुख्य काम गिरोह में नए लड़कों को जोडऩा और वारदात के बाद शरण देना है।