Fri. Aug 7th, 2020

मोदी करेंगे राम मंदिर का शिलान्यास

2023 तक मंदिर, 2024 में चुनाव

शिलान्यास से मंदिर के औपचारिक उद्घाटन तक में लगभग 3 साल का समय लगेगा। देश में अगला चुनाव 2024 में होना है। ऐसे में इस बात की पूरी उम्मीद है कि 2023 तक अयोध्या में राम मंदिर का भव्य स्वरूप खड़ा हो जाएगा। जाहिर है देश की राजनीति को बदलने वाले इस मुद्दे के आधार पर ही 2024 का लोकसभा चुनाव लड़ा जाएगा।

लखनऊ, 20 जुलाई (एजेंसी)। पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या में राम मंदिर का शिलान्यास करेंगे। वैसे तो मंदिर ट्रस्ट की बैठक के बाद 5 अगस्त की तारीख तय की गई है लेकिन सियासी जानकार इसके पीछे भी खास रणनीति बता रहे हैं। पिछले साल 5 अगस्त को ही केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने संसद में जम्म-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने की घोषणा की थी। साथ ही जम्मू कश्मीर और लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश भी घोषित किया गया था। बीजेपी व राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एजेंडे में वर्र्षों से अनुच्छेद 370 का खात्मा, अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण और देश में समान नागरिक संहिता लागू कराना रहा है। आगामी 5 अगस्त को राम मंदिर का शिलान्यास, दूसरे एजेंडे को पूरा करने का संकेत है। अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण का रास्ता पिछले साल ही खुल गया था जब सुप्रीम कोर्ट ने रामलला के पक्ष में फैसला सुनाया था। तभी से इंतजार था कि मंदिर निर्माण की औपचारिक शुरुआत कब होगी। सरकार और ट्रस्ट ने अब उसकी तारीख चुनी है।

पांच अगस्त का दिन सबसेे उत्तम
भोपाल के मशहूर ज्योतिषाचार्य आचार्य राजेश ने बताया कि 5 अगस्त की तारीख शुभ है। हिंदू कैलेंडर के मुताबिक भादो महीने की द्वितीय तिथि है। धनिष्ठा नक्षत्र की इस तिथि पर जो धार्मिक कार्य किए जाते हैं, वह बहुत शुभ होते हैं। भूमि पूजन का समय 11 से 12 के बीच सबसे उत्तम है।