September 22, 2020

राजस्थानी राइटर की कहानी पर बॉलीवुड फिर बनाएगा फिल्म

सरकार 3 और जेड प्लस जैसी फिल्मों के राइटर और वरिष्ठ पत्रकार रामकुमार सिंह की एक और कहानी सींव का पेड़ पर हिंदी में फिल्म बनने जा रही है। इस पर अनारकली ऑफ आरा फेम अविनास दास फिल्म बनाएंगे। दास को यह कहानी इतनी पसंद आई कि उन्होंने बाकायदा अपनी फेस बुक वाल पर न केवल इस पर फिल्म बनाने की घोषणा की बल्कि यहां तक कहा कि इस पर वे ही फिल्म बनाएंगे और कोई इसकी तरफ देखने की कोशिश भी न करे। किसी कहानी के लिएए किसी फिल्म मेकर की यह दीवानगी, किसी भी लेखक के सीने को गर्व से भर देने के लिए काफी है। दास ने कहानी के लिए रामकुमार सिंह की तारीफ करते हुए लिखा है कि प्रेमचंद अपनी कहानियों में जिस बेमिसाल सादगी से गूढ़ ग्रामकथा कहते थे ठीक उसी भाषाई स्वाद के साथ राम ने यह कहानी रची है। कहने को यह एक गांव की कथा है। कहने को यह दो भाइयों के बीच बंटवारे की कथा है लेकिन सच ये है कि सींव का पेड़ दुनिया भर में युद्धों और पड़ोसी मुल्कों से दुश्मनी की निरर्थकता की कथा है। रामकुमार सिंह ने यह कहानी हाल ही में लिखी है और यह राजकमल प्रकाशन समूह की पाठ-पुन: पाठ श्रृंखला की 72वीं किस्त में पाठकों के सामने आई है। इस कहानी पर रामकुुमार सिंह को समीक्षकों और आलोचकों की भी बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिली।

सक्रिय पत्रकारिता से फिल्म लेखन में एंट्री
रामकुमार सिंह राजस्थान के फतेहपुर शेखावाटी के गांव बिरानियां से हैं। वे कई सालों तक सक्रिय पत्रकारिता से रहे और इन दिनों मुंबई जाकर पूरी तरह से फिल्म लेखन में रम गए हैं।

पटकथा के साथ गीत लिखने में भी महारत
पटकथा और संवाद लेखन के साथ रामकुमार सिंह की कलम गीत लिखने में भी चलती है। उन्होंने राजस्थानी फिल्म भोभर में तो गीत लिखे ही अविनाश दास की हिंदी मूवी अनारकली ऑफ आरा में एक आइटम सांग भी लिखा।

रामकुमार सिंह की कहानियों पर पहले भी बन चुकी फिल्में
रामकुमार सिंह की यह पहली कहानी नहीं है जिस पर फिल्म बनने जा रही है। इससे पहले भी उनकी स्टोरी पर राजस्थानी और हिंदी में मूवी बन चुकी हैं। रामकुमार की कहानी पर निर्माता निर्देशक गजेंद्र श्रोत्रिय ने राजस्थानी फिल्म भोभर बनाई। उनके उपन्यास पर डॉ.चंद्र प्रकाश द्विवेदी ने जेड प्लस का निर्माण किया। फिर मिली उन्हें रामगोपाल वर्मा की सरकार 3 जिसमें उन्होंने बिग बी के लिए संवाद लिखे। फिलहाल खुशखबरी है कि रामकुमार सिंह की कहानी सींव का पेड़ थोड़े ही समय में इतनी पॉपुलर हो गई कि अविनाश दास ने उस पर फिल्म बनाने की घोषणा कर दी।