Fri. Mar 22nd, 2019

राजस्थान में दो चरणों में वोटिंग

दोनों दलों ने कमर कसी

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 11 मार्च। राजस्थान में दो चरणों में लोकसभा चुनाव होंगे। चौथे चरण में 29 अप्रेल को राजस्थान में 13 लोकसभा सीटों के लिए मतदान होगा। उसके बाद छठे चरण में 6 मई को 12 लोकसभा सीटों के लिए मतदान होगा। वोटों की गिनती 23 मई को होगी। प्रदेश में दोनों बड़ी पार्टियों बीजेपी-कांग्रेस ने मिशन 25 के लिए कमर कस रखी है। इस बार कांग्रेस के सामने बड़ी चुनौती है क्योंकि 2014 के लोकसभा चुनाव में पार्टी खाता भी नहीं खोल पाई थी। इस बार भाजपा के लिए भी चुनौती कम नहीं है, क्योंकि हाल ही में हुए विधानसभा चुनावों में पार्टी को शिकस्त का सामना करना पड़ा था।

पहला चरण: प्रदेश की 13 लोकसभा सीटों टोंक-सवाईमाधोपुर, अजमेर, पाली, जोधपुर, बाड़मेर, जालौर, उदयपुर, बासंवाड़ा, चितौडग़ढ़, राजसमंद, भीलवाड़ा, कोटा और झालावाड़-बारां में पहले चरण में 29 अप्रैल को मतदान होगा। पहले चरण की अधिसूचना 2 अप्रेल को जारी होगी। 9 अप्रेल तक नामांकन दाखिल किए जा सकेंगे। 10 अप्रेल को नामांकन पत्रों की जांच होगी तथा 12 अप्रेल तक नाम वापस लिए जा सकेंगे।

दूसरा चरण: दूसरे चरण की अधिसूचना 10 अप्रेल को जारी होगी। इस चरण में 12 लोकसभा क्षेत्रों श्रीगंगानर, बीकानेर, चूरू, झुंझूनूं, सीकर, जयपुर ग्रामीण, जयपुर, अलवर, भरतपुर, करौली-धौलपुर, दौसा और नागौर में 6 मई को मतदान होगा। अधिसूचना जारी होने के साथ ही नामांकन दाखिल करने का काम शुरू हो जाएगा। 18 अप्रेल तक नामांकन दाखिल किए जा सकेंगे। 20 अप्रेल को नामांकन पत्रों की जांच होगी तथा 22 अप्रेल तक नाम वापस लिए जा सकेंगे। प्रदेश की 25 लोकसभा सीटों में 04 अनुसूचित जाति, 03 अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं, वहीं 18 सीटें सामान्य वर्ग के लिए हैं। लोकसभा चुनाव में सभी 25 सीटों पर केन्द्रीय पर्यवेक्षक चुनाव प्रक्रिया तथा उम्मीदवारों के खर्चे पर नजर रखेंगे।

4 करोड 86 लाख से अधिक मतदाता 

मतदाता सूचियों के अंतिम प्रकाशन के अनुसार राज्य में कुल 4 करोड़ 86 लाख 3 हजार 329 मतदाता हैं। इसमें 2 करोड़ 53 लाख 86 हजार 133 पुरुष और 2 करोड़ 32 लाख 16 हजार 965 महिला मतदाता हैं। उन्होंने बताया कि 1 लाख 24 हजार 100 सर्विस मतदाता भी हैं।
लोकसभा चुनाव 2014 की तुलना में 27 लाख 38 हजार 82 पुरूष, 28 लाख 70 हजार 385 महिला एवं 25 हजार 297 सर्विस वोटर्स लोकसभा चुनाव-2019 में बढ़े हैं। श्री कुमार ने बताया कि चुनाव कार्यक्रम घोषित होने के साथ ही सभी मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों को सोमवार को बैठक आयोजित कर उन्हें चुनाव कार्यक्रम तथा आदर्श आचार संहिता की जानकारी दी जाएगी।

7 सीटें आरक्षित हैं
प्रदेश की25 सीटों में से 7 सीटें अनुसूचित जाति और जनजाति वर्ग के आरक्षित हैं। इनमें बीकानेर, श्रीगंगानगर, भरतपुर और करौली-धौलपुर लोकसभा सीट अनुसूचित जाति वर्ग के लिए आरक्षित है वहीं उदयपुर, बांसवाड़ा और दौसा अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं।