September 23, 2020

राजस्थान में भी होगा जजपा का विस्तार

बोले अजय चौटाला: हरियाणा में भाजपा के साथ मिलकर चलाते रहेंगे सरकार

चंडीगढ़, 3 सितम्बर (एजेंसी)। जननायक जनता पार्टी (जजपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी मिलने के बाद पूर्व सांसद डॉ. अजय सिंह चौटाला अब हरियाणा समेत विभिन्न राज्यों के दौरे पर निकलेंगे। हरियाणा में संगठन को मजबूत करने के साथ ही उत्तर प्रदेश, दिल्ली, राजस्थान और पंजाब पर उनकी निगाह है। इन राज्यों में अजय चौटाला संगठन का विस्तार करना चाहते हैं। चौटाला की योजना कार्यकर्ताओं के बीच रहकर उनकी बात सुनने तथा पार्टी को बड़े मुकाम पर पहुंचाने की है। डा. अजय चौटाला जजपा के आगे के सियासी सफर और कदम को लेकर भी स्पष्ट हैं। एक साक्षात्कार में उन्होंने हरियाणा में भाजपा से गठजोड़ को मजबूत बताया व कहा, भाजपा के साथ मिलकर पहले भी राज कर चुके हैं और आगे भी करते रहेंगे। इनेलो के टूटने के बाद अस्तित्व में आई जननायक जनता पार्टी अजय चौटाला के नेतृत्व में अभी तक जींद उपचुनाव, लोकसभा और विधानसभा तथा दिल्ली का विधानसभा चुनाव लड़ चुकी है। 10 विधायकों के साथ भाजपा सरकार में साझीदार जजपा के सामने अब सोनीपत जिले के बरोदा उपचुनाव की बड़ी चुनौती है।

जिम्मेदारी तो पहले भी बहुत थी
यह पूछे जाने पर कि अभी तक आप परदे के पीछे रहकर पार्टी की राजनीतिक गतिविधियों का संचालन कर रहे थे। अब विधिवत अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी मिली। भविष्य की क्या योजनाएं हैं तो उन्होने कहा, जिम्मेदारी तो पहले भी बहुत थी। अब और ज्यादा बढ़ गई है। हम सभी वर्करों को साथ लेकर आगे बढ़ेंगे। हरियाणा में पार्टी को मजबूत करने की योजना है। जनता के बीच पार्टी को नायक की भूमिका में खड़ा करेंगे। गांवों से लेकर शहरों तक, हर गली-मोहल्ले में पार्टी पहुंचेगी। ताऊ देवीलाल की नीतियों पर चल रही जजपा के हर छोटे से छोटे वर्कर की सुनवाई होगी। उन्होने कहा, राष्ट्रीय कार्यकारिणी की मीटिंग में हमने दिल्ली और उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष तय कर दिए हैं। जल्द ही राजस्थान तथा पंजाब में भी संगठन खड़ा करेंगे। इसके बाद बाकी राज्यों की तरफ रुख करेंगे। जजपा को क्षेत्रीय पार्टी से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक ले जाना है।

हम भाजपा के सहयोगी
एक सवाल के जवाब में उन्होने कहा, मैं यह नहीं कहता कि सब खुश हैं, लेकिन कई विधायक नाराज हैं यह कांग्रेस तथा हमारे विरोधियों द्वारा फैलाई गई अफवाह है। कोरोना काल में विकास की गति का पहिया थम गया था। अब धीरे-धीरे सारा सिस्टम पटरी पर आ रहा है। हम भाजपा के सहयोगी हैं। विपक्ष के लोग हमें भाजपा की ए और बी टीम भी बताते हैं। हम भाजपा के साथ सरकार में शामिल नहीं है, लोगों को यह भी समझ लेना चाहिए कि जजपा देवीलाल की विचारधारा को आगे बढ़ाने के लिए अस्तित्व में आई है, भाजपा में विलय होने के लिए नहीं।