Wed. Sep 18th, 2019

राधारानी के जन्मोत्सव पर मंदिरों में हुआ पंचामृत अभिषेक

मंदिरों में गाए गए बधाई गान, लुटाई जाएगी उछाल

जयपुर, 6 सितंबर। छोटी काशी मेंं आज शुक्रवार को राधाजी का जन्मोत्सव यानी राधाष्टमी पर्व मनाया जा रहा है। इस अवसर पर राधा कृष्ण मंदिरों में सुबह राधाजी का पुरुषसूक्त के पाठों से पंचामृत अभिषेक किया गया। अभिषेक के लिए 51 किलो दूध, 51 किलो दही, 1-1 किलो घी और शहद के साथ 20 किलो बूरा का उपयोग कर राधाजी का अभिषेक किया गया। इसके बाद पंजीरी, लड्डू और मावे की बर्फी का भोग लगाया गया। इस मौके पर मंदिरों में जन्मोत्सव के उपलक्ष में बधाई गान, उछाल आदि उत्सव मनाए जा रहे हैं। राधा-गोविंद देवजी मंदिर में प्रात: मंगला झांकी आरती के बाद राधाजी का पंचामृत अभिषेक किया गया। इस मौके पर राधा रानी व ठाकुरजी को पीत रंग की नवीन पोशाक धारण करवा कर फूलों से शृंगार किया गया। मंदिर प्रबंधक मानस गोस्वामी ने बताया कि शुक्रवार को शाम 5 बजे तक तिथि पूजा तथा प्रिया जी का पंचामृत अभिषेक दर्शन होंगे। इस दौरान छह: पंडि़तों द्वारा वेद पाठ किया जाएगा। वहीं शाम को साढ़े सात बजे से महिला मंडल की ओर से भजन कीर्तन होंगे।

शहर के प्रमुख मंदिरों में आयोजन
रामगंज स्थित लाडलीजी के मंदिर में महंत संजय गोस्वामी के सानिध्य में सुबह राधाजी का जन्माभिषेक किया गया। इसके बाद नवीन पोशाक धारण करवाकर नयनाभिराम शृंगार किया गया। चांदनी चौक स्थित देवस्थान विभाग के ब्रजनिधिजी मंदिर में पुजारी भूपेन्द्र कुमार रावल के सानिध्य में राधारानी का अभिषेक कर नवीन पोशाक धारण करवाई गई। पुरानी बस्ती स्थित गोपीनाथजी का मंदिर, चौड़ा रास्ता स्थित राधा दामोदरजी मंदिर, गोनेर रोड स्थित राधा गोविन्दजी मंदिर में भी राधाजी के जन्मोत्सव पर अभिषेक के बाद नवीन पोशाक धारण करवा कर शाृंगार किया गया।