September 20, 2020

राष्ट्रपति बनना मेरी बड़ी भूल थी

प्रणब दा ने नटवर सिंह से कहा था

नई दिल्ली, 2 सितम्बर (एजेंसी)। भारत रत्न प्रणव मुखर्जी के साथ यूपीए सरकार में मंत्री रहे पूर्व विदेश मंत्री नटवर सिंह ने कहा है कि प्रणब जैसा राजनीतिक करियर वाले नेता इन देश में कम है। उन्होंने अपने 50 साल के राजनीतिक करियर में हर तरह का समय देखा लेकिन हर परिस्थिति का डट कर मुकाबला प्रणब मुखर्जी ने किया। नटवर सिंह ने एक न्यूज चैनल को साक्षात्कार में कहा, 6 महीने पहले प्रणब से मुलाकात हुई थी, तब उन्होंने अपने दिल की कई बातें मुझसे साझा की। राजनीति में मैं प्रणब का जूनियर था लेकिन सरकार में या पार्टी में कभी उन्होंने मुझे कमतर का अहसास नहीं कराया। प्रणब मुखर्जी ने मुझसे हुई बातचीत में अपने राजनीतिक जीवन की दो बड़ी गलतियों का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि मेरी सबसे बड़ी गलती रही कि मैं राष्ट्रपति बना। मुझे लोगों से मिलना पसंद था लेकिन आज चार दीवारी में कैद हूं। वहीं पूर्व पीएम इंदिरा गांधी के निधन के बाद पार्टी छोड़ अपनी अलग पार्टी बनाना भी वो अपनी भूल बता रहे थे।

राष्ट्रपति होने के नाते वो किसी पार्टी से नहीं जुड़े थे
पूर्व विदेश मंत्री नटवर सिंह ने कहा कि मौका था कि वो देश के प्रधानमंत्री बन सकते थे लेकिन उस वक्त कई कारण थे। वो प्रधानमंत्री नहीं बन सके। अगर वो पीएम बनते तो बेहतरीन साबित होते। 2018 में आरएसएस हैडक्वार्टर में जाने पर कांग्रेस ने परोक्ष रूप से प्रणब मुखर्जी की आलोचना भी की थी लेकिन इसके बावजूद वो गए। नटवर सिंह ने कहा कि राष्ट्रपति होने के नाते वो किसी पार्टी से नहीं जुड़े थे, लेकिन कोई संस्था के बुलावे पर जाते हैं तो उसमें कांग्रेस को आपत्ति नहीं करनी चाहिए थी।