November 25, 2020

रासुका लगाने की तैयारी?

SIGNUM:?»ï U?>o½ìAn¸Ï?

  • गुर्जर आरक्षण आंदोलन से निपटने के लिए सरकार ने कसी कमर
  • जयपुर सहित कुछ इलाकों में इंटरनेट बंद

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 31 अक्टूबर। एक नवंबर से प्रस्तावित गुर्जर आंदोलन के मद्देनजर राजस्थान में प्रशासन अलर्ट के मोड़ पर आ गया है। जयपुर संभागीय आयुक्त सोमनाथ मिश्रा ने शुक्रवार को एक अहम आदेश जारी कर जयपुर जिले की कोटपूतली, पावटा, शाहपुरा, विराटनगर जमवारामगढ़ तहसील में 24 घंटे के लिए इंटरनेट बंद रखने के आदेश जारी कर दिए। संभागीय आयुक्त द्वारा जारी आदेश के अनुसार 30 अक्टूबर शाम छह से 31 अक्टूबर शाम छह बजे तक इंटरनेट सेवाएं बंद रहेंगी। गुर्जर बाहुल्य इलाकों में विशेष चौकसी बरतने के भी निर्देश दिए गए है। इससे पहले संभागीय आयुक्त ने भरतपुर और करौली में भी इंटरनेट सेवाएं बंद रखने के आदेश जारी किए थे। गुर्जर आंदोलन के मद्देनजर प्रशासन भी अपनी तैयारी पुख्ती कर रही है। गृह सचिव, कलेक्टर और एसपी से पल-पल की अपडेट ले रहे हैं। गृह सचिव एनएल मीणा ने करौली, भरतपुर , सवाई माधोपुर के जिला कलेक्टर से हालातों का फीडबैक लिया है। गृह सचिव ने कानून व्यवस्था को लेकर चर्चा की। इसके साथ ही क्लेक्टर और एसपी को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं।

सरकार ले सकती है बड़ा फैसला
प्रस्तावित गुर्जर आंदलोन के मद्देनजर राजस्थान की गहलोत सरकार बड़ा फैसला ले सकती है। गुर्जर बाहुल्य जिलों के कलेक्टर की मांग पर राज्य सरकार रासुका लगा सकती है। रासुका का इस्तेमाल प्रदर्शनकारियों पर लगाम के लिए किया जाता है। इसमें हिरासत में लिए व्यक्ति को अधिकतम एक साल जेल में रखा जा सकता है। फिलहाल गृहविभाग को कलेक्टरों के प्रस्ताव का इंतजार है।

ये जिले हैं गुर्जर बाहुल्य
राजस्थान में गुर्जर बाहुल्य जिलों में करौली, भरतपुर, सवाई माधोपुर, दौसा और धौलपुर जिला शामिल है। भीलवाड़ा का आसींद और सीकर का नीम का थाना तथा झुंझुनूं के खेतड़ी इलाके भी गुर्जर समाज का बाहुल्य है। हाड़ौती संभाग में भी गुर्जर समाज की अच्छी खासी तादाद है। दौसा के आभानेरी में गुर्जर नेताओं की बैठक में इस बात के संकेत दे दिये गये थे कि कर्नल बैंसला के नेतृत्व में दिल्ली-मुंबई रेलवे ट्रैक पर स्थित पीलूपुरा में जाम किया जाएगा तो अन्य नेता दौसा में आगरा-बीकानेर राजमार्ग पर स्थित सिकंदरा चौराहा पर सड़क मार्ग जाम करेंगे।

अफसर किए तैनात
चार आरएएस की ड्यूटी अलवर में लगाई गई है। उनके नाम हैं अखिलेश कुमार पीपल, रामस्वरूप चौहान, संजय शर्मा और रामानंद शर्मा। इनके अलावा जगदीश आर्य, बालकृष्ण तिवाड़ी, कैलाश गुर्जर और राजेंद्र शर्मा की ड्यूटी भरतपुर में रहेगी। धौलपुर में जगदीश सिंह , सेवाराम स्वामी, सोहनलाल चौधरी और कृष्ण कुमार गोयल व महेंद्र खींची और सत्तार खान को दौसा की जिम्मेवारी सौंपी गई है. गोविंद सिंह राणावत की ड्यूटी बूंदी में लगाई गई. मुकेश मीणा, मुनीदेव यादव और प्रवीण लेखरा की ड्यूटी सवाई माधोपुर में तय की गई है।