November 28, 2020

रिलायंस रिटेल में सऊदी अरब की पीआईएफ का 9,555 करोड़ रुपए निवेश

नई दिल्ली। सऊदी अरब का पब्लिक इन्वेस्टमेंट फंड (पीआईएफ) रिलायंस इंडस्ट्रीज की खुदरा इकाई की 2.04 फीसदी हिस्सेदारी खरीद पर 9,555 करोड़ रुपये (1.29 अरब डॉलर) निवेश करेगा। यह निवेश रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड की प्री-मनी इक्विटी वैल्यू 4.587 लाख करोड़ रुपये यानी 62.4 अरब डॉलर पर पहुंचाता है। फर्म ने कहा कि इस निवेश से वह भारत की अर्थव्यवस्था व खुदरा बाजार में पीआईएफ की मौजूदगी में इजाफा करेगा।
इससे पहले पीआईएफ जियो प्लेटफॉर्म की 2.32 फीसदी हिस्सेदारी ले चुका है, जो रिलायंस इंडस्ट्रीज की डिजिटल सेवा सहायक है। पीआईएफ के गवर्नर यासिर अल रुमैया ने कहा, हम रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ अपनी साझेदारी में इजाफा करने पर प्रसन्नता का अनुभव कर रहे हैं, जो भारत के अहम क्षेत्र की अग्रणी कंपनी है।

उन्होंंने कहा कि यह लेनदेन दुनिया भर में नवोन्मेषी कारोबार में लंबी अवधि की साझेदारी व निवेश की पीआईएफ की प्रतिबद्धता बताता है, जो हम अग्रणी कंपनियों में कर रहे हैं। उबर के बोर्ड में शामिल और सॉफ्टबैंक समूह के बोर्ड में निदेशक अल रुमैया ने कहा, यह सऊदी अरब के लोगों के लिए रिटर्न अर्जित करने की पीआईए की प्रतिबद्धता बताता है और सऊदी अरब के आर्थिक विशाखन को आगे बढ़ाने को भी प्रतिबिंबित करता है। रिलायंस रिटेल में हुआ सौदा पीआईएफ की रणनीति के मुताबिक है, जो वैश्विक निवेशक है और वैश्विक स्तर पर नवोन्मेषी कंपनियों में निवेश करता है। उसका इरादा संबंधित बाजारों में अग्रणी समूहों के साथ मजबूत साझेदारी विकसित करने का है। भारत का खुदरा क्षेत्र दुनिया भर के बड़े क्षेत्रों में से एक है और सकल घरेलू उत्पाद का करीब 10 फीसदी है और इसमें बढ़त की काफी संभावना है। रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा, रिलायंस का सऊदी अरब के किंगडम के साथ लंबा संबंध रहा है।

उन्होंने कहा, सऊदी अरब किंगडम के आर्थिक कायापलट में पीआईएफ अग्रणी है। मैं पीआईएफ का रिलायंस रिटेल में साझेदार के तौर पर स्वागत करता हूं और उनके समर्थन व दिशानिर्देश की अपेक्षा करता हूं क्योकि हम भारत के रिटेल क्षेत्र को बदलने की अपनी महत्वाकांक्षा को जारी रखे हुए हैं। आरआईएल की सहायक रिलायंस रिटेल वेंचर्स, रिलायस रिटेल की होल्डिंग कंपनी है, जो भारत के सबसे बड़े व तेजी से बढ़ते खुदरा कारोबार का परिचालन करती है और देश भर के अपने 12,000 सस्टोर के जरिए करीब 64 करोड़ लोगों को सेवाएं दे रही है। हालिया लेनदेन से रिलायंस की तरफ से पिछले पांच महीने में सिल्वर लेक, केकेआर, जनरल अटलांटिक, मुबाडला, टीपीजी और अबु धाबी इन्वेस्टमेंट अथॉरिटी समेत वैश्विक निवेशकोंं से जुटाई गई कुल रकम 47,265 करोड़ रुपए पर पहुंच गई है।