October 20, 2020

रोडवेज में इनकम से ज्यादा हो रहा घाटा, अधिकारी नहीं कर रहे मॉनिटरिंग

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 15 अक्टूबर। रोडवेज प्रशासन की ओर से नियमित बसों का संचालन नहीं किया जा रहा। इसके कारण रोडवेज को यात्रीभार के साथ ही राजस्व का भी नुकसान हो रहा है। रोडवेज के सबसे अधिक यात्रीभार वाले दिल्ली रूट पर डिलक्स डिपो की ओर से मात्र 2 बसें ही चलाई जा रही है। इससे रोडवेज को आमदनी से अधिक नुकसान हो रहा है। जानकारी के अनुसार दिल्ली सरकार से अनुमति मिलने के बाद रोडवेज प्रशासन ने बसों का संचालन शुरू किया था। इसके बाद डिलक्स डिपो द्वारा 2 बसें दिल्ली रूट पर शुरू की गई। अब धीरे-धीरे यात्री बढऩे के बाद भी डिलक्स डिपो प्रशासन की ओर से बसों की संख्या नहीं बढ़ाई जा रही। डिलक्स डिपो की वर्तमान में 24 बसें दिल्ली, जोधपुर, बीकानेर, उदयपुर, आगरा रूट पर संचालित हो रही है। इनमें से सबसे अधिक यात्रीभार दिल्ली रूट पर है। इसके बावजूद प्रशासन बसें नहीं बढ़ा रहा है। वर्तमान में डिलक्स बसें 30.53 रुपए प्रति किलोमीटर से संचालित हो रही है, जबकि 60 रुपए प्रति किलोमीटर का खर्चा हो रहा है। रोडवेज प्रशासन कर्मचारियों को बैठे वेतन दे रहा है, जबकि इन्हें रूट पर चलाना चाहिए।