October 28, 2020

लम्बित आवेदनों में से 50 फीसदी का निस्तारण: गोयल

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 6 अक्टूबर। राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण मण्डल के अध्यक्ष पवन कुमार गोयल ने मण्डल के न्यूज लेटर का विमोचन किया।
उन्होंने राज्य मण्डल के नियामक दायत्वों एवं मण्डल द्वारा औद्योगिक प्रोत्साहन के लिए किए जा रहे कार्यों के बारे जानकारी देते हुए बताया कि मण्डल द्वारा हाल ही में राज्य के विभिन्न औद्योगिक संगठनों, इकाइयों आदि के साथ बैठक कर उनसे प्राप्त सुझावों के उपरान्त कई नीतिगत निर्णय लिए गए है। उक्त नीतिगत बदलाव के कारण मण्डल के पास लम्बित सम्मति आवेदनों में 50 प्रतिशत से अधिक कमी आई हैं। भविष्य में अब मण्डल उद्योगों के सम्मति प्रकरणों को 120 दिवसों के भीतर निष्पादित करने के लिए प्रयासरत है, ताकि राज्य सरकार की मंशा के अनुसार राज्य में इज ऑफ डूइग ऑफ बिजनेस को बढ़ावा दिया जा सके। मण्डल के सदस्य सचिव, उदय शंकर ने मण्डल के ‘एनविस हब’ द्वारा प्रकाशित न्यूज लेटर के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि इसका उद्देश्य राज्य मण्डल द्वारा पर्यावरण संरक्षण के लिए किय जा रहे कार्यों की जानकारी आमजन तक पहुंचाकर पर्यावरण संरक्षण में आम जनता की भागीदारी बढ़ाया जाना है। न्यूज लेटर में मण्डल द्वारा लिए गए महत्वपूर्ण नीतिगत निर्णय तथा पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र में मण्डल द्वारा किए गए विभिन्न गतिविधियों के विवरण के साथ ही राजस्थान की वायु एवं जल गुणवत्ता पर कोविड-19 लॉकडाउन के प्रभाव का अध्ययन विगत एक वर्ष में राजस्थान में वायु गुणवत्ता सूचकांक का तुलनात्मक विवरण प्रस्तुत किया गया है।