November 24, 2020

लव जिहाद पर सियासी बयानों का विवाद

बीजेपी शासित उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश में लाए जाने वाले प्रस्तावित लव जिहाद बिल पर राजस्थान की राजनीति में घमासान मच गया है। लव जिहाद बिल पर शुक्रवार को सीएम अशोक गहलोत के बयान के बाद बीजेपी भी उन पर हमलावर हो गई है।

  • कानून सद्भाव को बिगाडऩे की चाल
  • बोले सीएम गहलोत

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 21 नवम्बर। लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाए जाने के मुद्दे पर राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने निशाना साधा है। सीएम ने लव जिहाद बिल को लेकर ट्वीट करते हुये कहा कि बीजेपी ने देश को बांटने और साम्प्रदायिक सद्भाव को बिगाडऩे के लिए लव जिहाद शब्द ईजाद किया है। शादी व्यक्तिगत आजादी का मामला है। शादी को रोकने के लिए लाया जाने वाला कोई भी कानून पूर्णतया असंवैधानिक है। गहलोत ने एक के बाद एक लगातार 3 ट्वीट कर कहा, यह किसी अदालत में नहीं टिकेगा। प्यार में जिहाद का कोई स्थान नहीं है। वे देश में ऐसा माहौल बना रहे हैं जहां वयस्क लोगों की सहमति राज्य की दया पर निर्भर हो जाएगी। शादी निजी फैसला है और वे इसमें रुकावट डाल रहे हैं। यह व्यक्तिगत आजादी को छीनने जैसा है। यह साम्प्रदायिक सद्भाव को बिगाडऩे की चाल और सामाजिक टकराव को बढ़ाने वाला कदम है। इसके साथ ही संविधान के उस प्रावधान का अनादर है, जिसमें राज्य किसी नागरिक के साथ किसी भी आधार पर किसी तरह का भेदभाव नहीं कर सकता।

कांग्रेस निजी स्वतंत्रता की आड़ न ले-शेखावत
सीएम गहलोत के ट्वीट के बाद केन्द्रीय जलशक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने भी ट्वीट कर गहलोत पर सवाल उठाये हैं। शेखावत ने भी गहलोत के तीन ट्वीट के जवाब में उतने ही ट्वीट किये हैं। शेखावत ने ट्वीट कर कहा कि प्रिय अशोक गहलोतजी, क्या हजारों युवतियों के साथ प्रेम और विवाह के नाम पर नाम तथा धर्म बदलकर हो रहे धोखे को लव जिहाद नहीं कहेंगे? शेखावत ने अपने सिलसिलेवार ट्वीट्स में कहा कि शादी अगर व्यक्तिगत स्वतंत्रता का मामला है तो फिर महिलाएं अपने मायके का नाम या धर्म रखने के लिए स्वतंत्र क्यों नहीं हैं? क्यों लड़कियों के परिवारों को भी दूसरे धर्म को स्वीकार करने के लिए मजबूर किया जाता है? क्या धर्म व्यक्तिगत स्वतंत्रता की बात नहीं है । केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि अशोकजी,चूंकि कांग्रेस व्यक्तिगत स्वतंत्रता की आड़ में इस कृत्य का समर्थन कर रही है तो क्या यह आपका नया सांप्रदायिक एजेंडा है? सत्ता लालच में हिंदू आतंकवाद जैसे शब्द गढऩा, घृणा फैलाना इत्यादि सब कांग्रेस प्रधान कृत्य है। शेखावत ने कहा कि भाजपा सबका साथ,सबका विकास में विश्वास रखती हैं इसलिए हमारी महिलायें लव जिहाद नाम के धोखे और अन्याय के अधीन नहीं होंगी। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि कांग्रेस की देशभर में हो रही दुर्दशा से वह इतना विचलित हो जाएंगे यह विश्वास नहीं होता। सनातन भारत की परंपरा में विवाह धार्मिक और सामाजिक मान्यता प्राप्त संस्कार है। यह केवल व्यक्ति की स्वतंत्रता तक सीमित नहीं है।