October 20, 2020

विधायक की सिफारिश पर मिलेगा टिकट

कांग्रेस ने निगम चुनाव का तय किया फार्मूला, आब्जर्वर की नियुक्ति जल्द

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयप,12 अक्टूबर। नगर निगम चुनाव को लेकर कांग्रेस में टिकट वितरण का फार्मूला लगभग तय हो गया है। नगर निगम चुनाव में पार्षद का टिकट विधायक की राय से ही मिलेगा। कांग्रेस टिकटों पर फीडबैक के लिए ऑब्जर्वर लगाएगी लेकिन टिकट वितरण में सबसे ज्यादा विधायकों की ही चलने वाली है। कांग्रेस विधायक और विधायक उम्मीदवारों से पार्षद प्रत्याशियों के नामों के पैनल लिए जाएंगे। उसके आधार पर टिकट तय होंगे। निगम चुनाव के टिकट वितरण में विधायकों की ही चलेगी, लेकिन उन्हें पार्षद उम्मीदवार की जीत की गारंटी भी लेनी होगी। सिफारिश करने वाले पार्षद उम्मीदवार की हार-जीत की जिम्मेदारी विधायक या विधायक उम्मीदवार की रहेगी। टिकट दावेदारों को इस फार्मूले की पहले से भनक लग गई है इसलिए कांग्रेस विधायकों के पास टिकट दावेदारों की कतारें लगनी शुरू हो गई है।
निगम चुनाव की तैयारियों पर मंथन के लिए सोमवार को पीसीसी में कांग्रेस की बैठक बुलाई गई है।पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा की अध्यक्षता में होने वाली इस बैठक में जयपुर के प्रमुख कांग्रेस नेताओं, विधायकों, मंत्रियों और विधायक उम्मीदवारों को बुलाया गया ह।
बैठक में उम्मीदवार चयन, ऑब्जरवर्स की नियुक्ति और चुनाव की रणनीति पर मंथन होगा। बैठक में मंत्रियों, विधायकों और वरिष्ठ नेताओं को निगम चुनावों की जिम्मेदारी दी जाएगी। नगर निगम चुनावों में बिना पार्टी पदाधिकारियों के ही कांग्रेस मैदान में उतर रही ह। कांग्रेस सोमवार शाम तक ऑब्जरवर्स की घोषणा कर सकती है। सीएम निवास पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा के बीच इसको लेकर लंबी मंत्रणा हुई है। दोनों नेताओं ने निगम चुनाव की रणनीति पर मंथन करने के साथ ही जल्द ऑब्जरवर्स लगाने पर चर्चा की है। इसमें निगम चुनाव में टिकट के मापदंड और टिकट बांटने को लेकर चर्चा हुई है।

35 लाख 97 हजार 873 मतदाता लेंगे भाग
चुनाव आयुक्त ने बताया कि सभी निगमों के मिलाकर 35 लाख 97 हजार 873 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे। इनमें 18 लाख 76 हजार 195 पुरुषए 17 लाख 21 हजार 637 महिला व 41 अन्य श्रेणी के मतदाता हैं। सर्वाधिक मतदाता जयपुर की जयपुर ग्रेटर निगम में हैं जहां 12 लाख 28 हजार 754 मतदाता हैं। इसी तरह जयपुर हैरिटेज में 9 लाख 32 हजार 807 मतदाता हैं। जोधपुर शहर के जोधपुर उत्तर निगम में कुल 3 लाख 87 हजार 794 मतदाता हैं जबकि दक्षिण में 3 लाख 39 हजार 537 मतदाता हैं। कोटा उत्तर नगर निगम में 3 लाख 32 हजार 655 और कोटा दक्षिण में 3 लाख 76 हजार 326 मतदाता हैं।

अधिसूचना 14 को जारी होगी
राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त पीएस मेहरा ने बताया कि 14 अक्टूबर को लोक सूचना जारी की जाएगी। नामांकन पत्रों को प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि 19 अक्टूबर होगी। नामांकन पत्रों की संवीक्षा 20 अक्टूबर को करवाई जाएगी। उम्मीदवार अपना नाम 22 अक्टूबर तक वापस ले सकते हैं। चुनाव चिन्हों का आवंटन 23 अक्टूबर को करवाया जाएगा।

महापौर चुनाव 10 नवम्बर को
राजस्थान के 6 नवगठित नगर निगमों जयपुर हैरिटेज,जयपुर ग्रेटर,जोधपुर उत्तर, जोधपुर दक्षिण,कोटा उत्तर और कोटा दक्षिण के सभी 560 वार्डों में दो चरणों में 29 अक्टूबर और 1 नवंबर को मतदान और 3 नवंबर को मतगणना करवाई जाएगी। जबकि महापौर का चुनाव 10 नवंबर और उप महापौर का चुनाव 11 नवंबर को करवाया जाएगा। चुनाव कार्यक्रम घोषित होते ही जयपुर, जोधपुर और कोटा में आचार संहिता लागू हो गई है। तीनों जिलों में तबादलों पर भी रोक रहेगी। तीनों जिलों में आदर्श आचार संहिता के सभी प्रावधान प्रभावी होंगेण् नए सरकारी कामों की घोषणा, शिलान्यास,उद्धाटन पर रोक रहेगी।