September 23, 2020

विश्वभर में फैली है इसकी स्वर्णिम आभा

जैलसमेर में कई सुंदर हवेलियां और जैन मंदिरों के समूह हैं जो 12वीं से 15वीं शताब्दी के बीच बनाए गए थे। सोनार किले में स्थित मंदिर की कारीगरी देखकर सैलानी दांतों तले अंगुलिया दबा लेते हैं। रावल जैसल द्वारा निर्मित यह किला जो 80 मीटर ऊंची त्रिकूट पहाड़ी पर स्थित है। इसमें महलों की बाहरी दीवारें, घर और मंदिर कोमल पीले सेंट स्टोन से बने हुये हैं. इस किले के अंदर मौजूद कुंए पानी का निरंतर स्रोत प्रदान करते हैं।