September 22, 2020

वेदांता को तेल व गैस की खोज और खनन का ब्लॉक आंवटित

जैसलमेर में 417 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र दिया, केन्द्र सरकार की अनुशंसा पर माइन्स व पेट्रोलियम एसीएस ने जारी किया लाइसेंस

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 14 सितंबर। प्रदेश के जैसलमेर जिले के 417.44 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में तेल और प्राकृतिक गैस की खोज की जाएगी। इसके लिए वेदांता को 3 प्लस एक चार साल के लिए ब्लॉक आवंटित किया गया है। केन्द्र सरकार के पेट्रोलियम एवं गैस मंत्रालय की अनुशंसा पर यह लाइसेंस जारी किया गया है। वेदांता इस क्षेत्र में खनिज तेल एवं प्राकृतिक गैस की खोज पर करीब 90 करोड़ रुपए का निवेश करेगी और 100 से 150 लोगों को प्रत्यक्ष व 400 से 600 लोगों को अप्रत्यक्ष रोजगार मिलेगा। इसके साथ ही उत्पादन आरंभ होने पर खनिज तेल के उत्पादन पर 12.5 प्रतिशत और प्राकृतिक गैस के उत्पादन पर 10 प्रतिशत की दर से प्रदेश को राजस्व प्राप्ति होगी।

शैल गैस की खोज व उत्पादन किया जाएगा: माइन्स एवं पेट्रोलियम के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने कहा कि वेदांता को जैसलमेर में आरजे-ओएनएचपी-2018/1 ब्लॉक का आवंटन किया गया है। इस क्षेत्र में वेदांता द्वारा खनिज क्रूड ऑयल, प्राकृतिक गैस, कोल बेड मिथेन सीबीएम और शैल गैस की खोज व उत्पादन किया जाएगा।

5 कुओं की खुदाई: वेदांता द्वारा इस क्षेत्र में 5 कुओं की खुदाई खोज व उत्पादन कार्य के लिए की जाएगी, जिसमें प्रतिवर्ष एक कुएं की खुदाई की जा सकेगी। इसी तरह से पांच कुएं चट्टानों मेें गैस की खोज, विश्लेषण और उत्पादन के लिए खोदे जाएंगे। एक कुएं की एक हजार मीटर गहराई तक खुदाई की जा सकेगी। जियो फिजिकल 2 डी व 3 डी सर्वे में 2 डायमेंशन में 500 लाइन किलोमीटर व 3 डायमेंशन मेें 417 वर्ग किलोमीटर में सर्वे किया जा सकेगा।

प्रदेश मेें राजस्व की भी बढ़ोतरी होगी: डॉ. अग्रवाल ने बताया कि तेल और गैस की उत्पादकता बढऩे से लाभदायकता बढऩे के साथ ही प्रदेश मेें राजस्व की भी बढ़ोतरी होगी। इस समय प्रदेश में लगभग एक लाख 20 हजार बैरल प्रतिदिन कच्चे तेल व करीब 36 लाख घनमीटर गैस का उत्पादन हो रहा है।