Thu. Dec 12th, 2019

शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं संस्कृत महाविद्यालय भवन का लोकार्पण समारोह

शिक्षा एवं खाद्य सुरक्षा की तरह सभी को स्वास्थ्य का अधिकार मिले – मुख्यमंत्री

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 19 नवम्बर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि शिक्षा के अधिकार एवं खाद्य सुरक्षा के अधिकार की तरह ही हर नागरिक को स्वास्थ्य का अधिकार मिलना चाहिए। केन्द्र सरकार को इसके लिए पहल करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इसी दिशा में काम करते हुए स्वास्थ्य के क्षेत्र में जनता क्लिनिक खोलने का नवाचार करने जा रही है। गहलोत सोमवार को अजमेर के पंचशील में शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र तथा राजकीय संस्कृत महाविद्यालय के भवनों के लोकार्पण के अवसर पर जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार अधिकाधिक संख्या में जनता क्लीनिक खोलने के प्रयास करेगी। इस कार्य में सभी का सहयोग जरूरी है। मुख्यमंत्री ने लोगों से पर्यावरण संरक्षण की अपील की और कहा कि अपने आस-पड़ोस के वातावरण को साफ-सुथरा रखने पर ध्यान देना सभी के लिए जरूरी है। पर्यावरण में सुधार से बीमारियां कम होंगी और लोगों की चिकित्सा जरूरतें घटेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार सरकार की प्राथमिकता है। आने वाले समय में स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार पर फोकस करते हुए सरकार प्रयास कर रही है कि प्रत्येक जिले में एक मेडिकल कॉलेज स्थापित हो। प्रदेश में 10 मेडिकल कॉलेज खोले जा रहे हैं। साथ ही, मेडिकल कॉलेज में पीजी की सीटें बढ़ें, इस दिशा में प्रयास किए जाएंगे।

महंगी जाचें भी अब मिल रही हैं लोगों को नि:शुल्क
गहलोत ने कहा कि नि:शुल्क दवा एवं नि:शुल्क जांच के अभिनव कार्य का अच्छा संदेश पूरे देश और दुनिया में गया है। वर्तमान में डायलेसिस, सोनोग्राफी सहित महंगी जांचें नि:शुल्क की जा रही हैं। वरिष्ठ नागरिकों एवं बीपीएल परिवारों के लिए सिटी स्कैन तथा एमआरआई जैसी जांचों को भी नि:शुल्क किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि महात्मा गांधी स्वास्थ्य बीमा योजना के माध्यम से भी मरीजों को राहत प्रदान की जा रही है। मुख्यमंत्री ने बताया कि चिकित्सा विभाग मिलावटखोरी पर अंकुश लगाने के लिए भी कार्रवाई कर रहा है। राज्य सरकार मिलावटखोरों को सख्त सजा दिलवाने के प्रयास कर रही है। हुक्का बार और रात्रि आठ बजे बाद शराब की दुकान खुलने पर भी लाइसेंस निरस्त करने की कार्यवाही की जा रही है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि स्वतंत्रता सेनानियों की सोच, दूरदृष्टि, तथा इच्छाशक्ति से इस देश का निर्माण हुआ है। आज हम सबको उनसे प्रेरणा लेकर कार्य करने का समय है। उन्होंने कहा कि अजमेर को एक साथ दो सौगातें मिली हैं। शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र से लोगों को चिकित्सा सुविधा का सीधा लाभ मिलेगा और संस्कृत कॉलेज से विद्यार्थियों को आगे बढऩे के अवसर मिलेंगे। समारोह को पूर्व शिक्षा राज्यमंत्री नसीम अख्तर, पूर्व विधायक डॉ. श्रीगोपाल बाहेती और महेन्द्र सिंह रलावता ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री मास्टर भंवर लाल मेघवाल, खान एवं गोपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया, तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री सुभाष गर्ग, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री राजेन्द्र सिंह यादव, विधायक राकेश पारीक, सुरेश टाक, पूर्व सांसद श्रीमती प्रभा ठाकुर, नाथूराम सिनोदिया, रामनारायण गुर्जर, हेमन्त भाटी सहित अन्य जनप्रतिनिधि, प्रशासनिक अधिकारी एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।