September 25, 2020

श्रीसंत के बाद अंकित चव्हाण ने वापसी के लिए बोर्ड से की अपील

नई दिल्ली, (एजेंसी)। इंडियन प्रीमियर लीग 2013 में स्पाट फिक्सिंग प्रकरण में कथित लिप्तता के लिए आजीवन प्रतिबंध झेल रहे अंकित चव्हाण ने बीसीसीआई और मुंबई क्रिकेट संघ (एमसीए) को पत्र लिखकर इसे घटाकर सात साल करने का अनुरोध किया। बीसीसीआई की अनुशासनात्मक समिति ने 2013 में राजस्थान रॉयल्स के तीन खिलाडिय़ों (पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज एस श्रीसंत, चव्हाण और अजीत चंदिला) को आईपीएल में स्पाट फिक्सिंग करने का दोषी पाया था और उन्हें आजीवन प्रतिबंधित कर दिया था। लेकिन 2015 में दिल्ली में एक ट्रायल कोर्ट ने इन तीनों के खिलाफ सभी आरोप हटा दिए और पिछले साल बीसीसीआई लोकपाल डीके जैन ने श्रीसंत का आजीवन प्रतिबंध घटाकर सात साल कर दिया। अब श्रीसंत के लिए प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में वापसी का मौका है और 34 साल के चव्हाण ने भी बीसीसीआई और अपनी राज्य संस्था एमसीए को ईमेल भेजा है। इसमें चव्हाण ने अपने प्रतिबंध को घटाकर सात साल करने का अनुरोध किया है ताकि वह जल्द से जल्द खेल सकें। चव्हाण ने गुरुवार को कहा, ‘मैं बीसीसीआई से इसी आधार पर अनुरोध करता हूं कि अगर श्रीसंत के प्रतिबंध पर दोबारा विचार किया जा सकता है तो कृपया मेरे प्रतिबंध पर भी दोबारा विचार कीजिये।’ उन्होंने लिखा, ‘मुझे बीसीसीआई से कोई जवाब नहीं मिला इसलिए मुझे अपनी राज्य संस्था को लिखना पड़ा जो एमसीए है। इसलिए मैंने इसी आधार पर लिखा है। मैं संघ से मेरे मामले को बीसीसीआई के समक्ष पेश करने का अनुरोध करता हूं ताकि मेरे प्रतिबंध पर दोबारा विचार किया जा सके।