Fri. Jul 3rd, 2020

सब्जियों के दाम में आया तेज उछाल

सांध्य ज्योति संवाददाता

जयपुर, 30 जून। लॉकडाउन के बाद खाद्य उत्पाद कीमतों में इजाफे का दौर जारी है। हालिया महंगाई सब्जी कीमतों में है। जून महीने के दूसरे पखवाड़े से कीमतों में जबरदस्त तेजी है। टमाटर, टिण्डा,धनिया,अदरक, अरबी सहित सीजनेबल सब्जी की कीमतों में तेजी जारी ह। चालू कैलेंडर वर्ष में पहली बार कीमतों में तेजी है। पेट्रोल डीज़ल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी होने से सब्जियों की कीमतों में इजाफा हुआ है वहीं मानसून आने से बिजाई शुरू होने का असर भी सब्जी आपूर्ति पर है।् पिछले एक सप्ताह में अधिकतर सब्जियों के थोक भाव दोगुने हो गए हैं। खास तौर पर सीजनेबल सब्जियां महंगी हुई हैं। मुहाना मंडी में भी आसपास के किसानों से होने वाली आवक पर सीधा असर है। अब तक 2 से 5 प्रति किलो बिक रहा टमाटर भी थोक कीमतों में 25 से 30 रुपये प्रति किलो के स्तर पर हो गया है वहीं टिंडा,अदरक रिकॉर्ड स्तर पर है। अदरक कीमतों में स्टाकिस्ट के चलते तेजी है् वहीं आलू और प्याज भी कीमतों पर भी स्टॉकिस्ट हावी है। बैंगन और खीरा कीमतें फिलहाल स्थिर हैं।

क्या कहना है कारोबारियों का
मंडी कारोबारियों के अनुसार सब्जी कीमतों में तेजी का दौर लगातार जारी रह सकता है। जयपुर फल सब्जी थोक विक्रेता संघ के अध्यक्ष राहुल तंवर का कहना है की पेट्रोल-डीजल की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी होने से सब्जियां महंगी हो गई हैं जिसका सीधा भार आम जनता पर पड़ रहा है। आस-पास से सीजनेबल सब्जियों की आवक घटने का असर है। हालिया बारिश के बाद नई फसल की बिजाई में किसान व्यस्त हैं। मांग के मुकाबले आपूर्ति नहीं है। ऐसे में तेजी का दौर फिलहाल जारी रहेगा। सब्जी कीमतों में आई महंगाई से उपभोक्ता पर दोहरी मार पड़ रही है।् एक ओर जहां पेट्रोल डीजल से परिवहन और अन्य उत्पाद महंगे हो गए हैं वहीं अब सब्जी कीमतों में इजाफे से बचत पर सीधा असर है। मानसून सीजन में कीमतों में इजाफा जारी रहने की पूरी संभावना है।