October 28, 2020

समर्थन मूल्य पर मूंग, उड़द, सोयाबीन और मूंगफली खरीद के भेजेंगे प्रस्ताव

उपज के भंडारण के लिए गोदामों की पर्याप्त व्यवस्था की जाएगी

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 30 सितंबर। प्रदेश में सरकार समर्थन मूल्य पर मूंग, उड़द, सोयाबीन एवं मूंगफली की होने वाली खरीद के लिए भंडारण की पूरी व्यवस्था की जाएगी। वर्तमान में वेयर हाउस कॉरपोरेशन के पास 1 लाख 50 हजार मीट्रिक टन तथा सीडब्लयूसी के पास 95 हजार मीट्रिक टन भंडारण क्षमता उपलब्ध है। वेयर हाउस कॉरपोरेशन के अध्यक्ष पी.के. गोयल ने कहा कि नैफेड़ गोदामों में रखी उपज को शीघ्र स्थानांतरित करें, ताकि 12 लाख मीट्रिक टन की भंडारण क्षमता का उपयोग हो सके। खरीफ 2020 में दलहन एवं तिलहन की खरीद व्यवस्था के संबंध में वर्चुअल तरीके से आयोजित राज्य स्तरीय स्टैरिंग कमेटी के समक्ष गोयल ने विचार व्यक्त किए। सहकारिता एवं कृषि प्रमुख शासन सचिव, कुंजीलाल मीणा ने कहा कि राज्य में नवम्बर माह में मूंग, उड़द सोयाबीन एवं मूंगफली की खरीद के लिए भारत सरकार को प्रस्ताव भेजे जा रहे है। भारत सरकार से अनुमति मिलने पर खरीद प्रारंभ की जाएगी।
अधिकतम 25 प्रतिशत मात्रा खरीदी जाती: मीणा ने कहा कि पीएसएस गाइडलाइन के अनुसार मूंग, उड़द सोयाबीन एवं मूंगफली की उत्पादन की अधिकतम 25 प्रतिशत मात्रा खरीदी जाती है। इस हिसाब से भारत सरकार को 12.22 लाख मीट्रिक टन उपज खरीद हेतु प्रस्ताव भेजा जाएगा। खरीद के लिए 1935 करोड़ रुपए की कार्यशील पूंजी एवं रिवाल्विंग फंड की आवश्यकता होगी। इस पर वित्त विभाग के सचिव सुधीर शर्मा ने कहा कि पूरा सहयोग प्रदान किया जाएगा।

एफएक्यू मानक के अनुसार ही जिंसों की खरीद की जाए: प्रमुख शासन सचिव ने कहा कि खरीद के लिए स्थापित होने वाले केन्द्र को विशेष निर्देश दिए जाएंगे कि एफएक्यू मानक के अनुसार ही जिंसों की खरीद की जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि एफएक्यू मानक के अनुसार खरीद नहीं करने पर संबंधित समितियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी एवं खरीद से भी बाहर किया जाएगा। रजिस्ट्रार मुक्तानन्द अग्रवाल ने कहा कि खरीद के दौरान विभाग द्वारा संगठित प्रयासों से सर्तकता रखी जाएगी। जिला प्रशासन एवं राजफैड़ का भी सहयोग लिया जाएगा।