September 25, 2020

सवा करोड़ से ज्यादा वोटर चुनेंगे गांव की सरकार

1 3848 पंचायतों में चार चरणों में होंगे चुनाव 1 आचार सहिंता लागू

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 8 सितम्बर। राज्य चुनाव आयोग की ओर से की गई पंचायत चुनावों की घोषणा के साथ ही अब प्रदेश में राजनीतिक सरगर्मियां फिर से परवान चढेंगी। प्रदेश की शेष बच रही 3848 ग्राम पंचायतों के लिए चुनावों का सोमवार को ऐलान हो गया है। ये चुनाव चार चरणों में करवाये जाएंगे। इनके लिये 28 सितंबर, 3, 6 और 10 अक्टूबर को मतदान होगा। इन चुनावों में प्रदेश के सवा करोड़ से ज्यादा मतदाता गांव की सरकार चुनेंगे। इन 3848 ग्राम पंचायतों में 35,968 वार्ड हैं। इनमें 1 करोड़ 28 लाख 23 हजार 785 पंजीकृत मतदाता हैं। इनमें से 67 लाख 7 हजार 732 पुरुष और 61 लाख 15 हजार 979 महिला मतदाता है। 74 थर्ड जेंडर मतदाता भी अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे। ये चुनाव ग्रामीण क्षेत्रों के लिये काफी अहम हैं। इनके लिये अब चुनावी चौसर बिछेगी। चुनाव कार्यक्रम जारी होते ही पंच- सरपंच के दावेदारों ने ताल ठोकनी शुरू कर दी है।

नियंत्रण कक्ष
मुख्य चुनाव आयुक्त पीएस मेहरा के अनुसार आयोग की ओर से मुख्यालय और जिला स्तर पर चुनाव कार्य से संबंधित सूचनाओं के आदान-प्रदान करने के लिये नियन्त्रण कक्ष स्थापित किया जायेगा। इसके जरिये आमजन भी चुनाव संबंधी किसी भी गतिविधि के बारे में जानकारी दे सकेगा और शिकायत कर सकेगा। उन पर त्वरित कार्रवाई की जाएगी। इसका टेलीफोन नम्बर 0141-2227786 है। यह नियन्त्रण कक्ष प्रतिदिन सुबह 8 बजे से शाम 8 बजे तक कार्य करेगा। पंचायत चुनाव अप्रैल में होने थे। लेकिन कोरोना के चलते लगे लॉकडाउन में टल गए। बाद में सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव का समय 15 अक्टूबर तक बढ़ा दिया गया था।

केंद्रों पर मतदाताओं की संख्या 900 तक सीमित
कोरोना महामारी को ध्यान मेें रखते हुए मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की संख्या को 1100 से घटाकर 900 कर दिया गया है। इसके अनुसार मतदान केंद्रों की संख्या भी बढ़ा दी गई है। साथ ही मतदान का समय भी एक घंटा बढ़ा दिया गया है। मतदान का समय अब सुबह 7.30 से शाम 5.30 बजे तक रखा गया है।