Tue. Jul 16th, 2019

सांसद दिया ने बजट सत्र में उठाए रेलवे के मुद्दे

मावली मारवाड़ आमान परिवर्तन कार्य शुरू करने की मांग

राजसमन्द (निसं.)। सांसद दियाकुमारी ने आज एक बार फिर रेलवे के विभिन्न मुद्दों पर आवाज बुलंद करते हुए लोकसभा में अपने पूरक प्रश्न में मावली मारवाड़ आमान परिवर्तन में आ रहीं बाधाओं के बारे में सवाल किए। उन्होंने कहा की उत्तर पश्चिम रेलवे के अंतर्गत स्वीकृत मावली मारवाड़ रेल लाइन का कार्य कब तक पूर्ण होगा। उन्होंने कहा कि संसदीय क्षेत्र राजसमंद रेलवे नेटवर्क के मामले में बहुत पिछड़ा हुआ है। वहीं दूसरी तरफ वर्षों से लंबित रेल परियोजनाओं को पूरा किया जा रहा है। इस पर केंद्रीय रेलमंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि डीपीआर में यह लाइन दो सेंचुरी से होकर निकल रही है। इसको ध्यान में रखते हुए अंतिम एलाइनमेंट किया जा रहा है। सर्वे पूर्ण होते ही आगे की कार्रवाई कि जा सकेगी। पुष्कर से मेड़ता एवं नाथद्वारा से देवगढ़ होते हुए ब्यावर के लिए पूर्व से चली आ रही दो नई रेल लाइन की मांग पर केंद्रीय मंन्त्री पीयूष गोयल ने कहा कि पिछली सरकार के समय राज्य सरकार ने संयुक्त रूप से जमीन उपलब्ध कराने के साथ अन्य सहायता करने की बात भी कही थी, लेकिन पिछले दिनों राजस्थान सरकार ने इस स्वीकारोक्ति से पल्ला जाड़ लिया है। इस कारण योजना अटकी पड़ी है। रेलमंत्री ने सभी राजस्थान के सांसदों से राजस्थान सरकार से मिलकर बात करने का आग्रह किया, ताकि इस योजना को मूर्तरूप दिया जा सके। सांसद दिया ने कहा कि नागौर जिले के बुटाटी धाम में हजारों की संख्या में लकवाग्रस्त रोगी प्रतिदिन आध्यात्मिक उपचार के लिए आते हैं। बुटाटी धाम जाने के लिए निकटतम रेलवे स्टेशन रेण है। इस स्टेशन पर यात्री सुविधाओं को बढ़ाने के साथ-साथ कुछ एक्सप्रेस रेलगाडिय़ों मुख्य रूप से रेल गाड़ी संख्या 124 65/ 12466 (जोधपुर इंदौर इंटरसिटी) व रेल गाड़ी संख्या 22421/22422 (सालासर सुपर फास्ट) का ठहराव अनिवार्य किया जाना चाहिए। साथ ही गोटन स्टेशन रेल गाड़ी का ठहराव किया जाना आवश्यक है। उन्होंने रेल मंत्री से पूछा कि कब तक यह ठहराव होने की संभावना है ? इस पर रेल मंत्री ने कहा कि आधिकारिक रूप से इस सम्बंध में जांच की जा रही है और जल्दी ही रिपोर्ट के आधार पर संबंधित स्टेशन पर सुविधाएं उपलब्ध करवाने का प्रयास किया जाएगा।