Wed. Apr 24th, 2019

साक्षी, बासुमात्रे मुक्केबाजी विश्वकप के फाइनल में

पिंकी, प्रवीण को मिला कांस्य

कोलोन, (एजेंसी)। मौजूदा युवा विश्व चैम्पियन साक्षी (57 किग्रा) और पिलाओ बासुमात्रे (64 किग्रा) ने कल कोलोन मुक्केबाजी विश्वकप के सेमीफाइनल जगह पक्की की। तो वहीं पिंकी रानी (51 किग्रा) और प्रवीण (60 किग्रा) को सेमीफाइनल में हारकर कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा।अठारह साल की साक्षी ने थाईलैंड की तिनताबथाई प्रिडाकामोन को कोई मौका नहीं दिया और 5-0 की जीत दर्ज की। दो बार की युवा विश्व चैम्पियन का फाइनल में राष्ट्रमंडल खेलों की रजत पदक विजेता आयरलैंड की मिशेला वाल्स से होगा। स्ट्रैंड्जा मुक्केबाजी चैम्पियनशिप की कांस्य पदक विजेता बासुमात्रे को डेनमार्क की एइआजा दित्ते फ्रोस्तोल्म को खंडित फैसले से हराया। फाइनल में 26 साल की इस खिलाड़ी का मुकाबला चीन की चेंगयू यांग से होगा। स्ट्रैंड्जा मुक्केबाजी में स्वर्ण पदक विजेता मैसनाम भी फाइनल में पहुंच गई है। छोटे ड्रा के कारण वह सीधे फाइनल में खेलेंगीं राष्ट्रमंडल खेलों की कांस्य पदक विजेता पिंकी रानी (51 किलो) को हालांकि सेमीफाइनल में हार का सामना करना पड़ा। इंडिया ओपन की स्वर्ण पदक विजेता पिंकी रानी को आयरलैंड की कार्ले मैकनौल ने हराया, जबकि इंग्लैंड की मुक्केबाज पैगे मुरने ने प्रवीण को शिकस्त दी।