September 25, 2020

सितम्बर में नहीं चलेगी शाही रेल

कोरोना संकट के चलते पर्यटकों ने रद्द कराई बुकिंग

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 31 अगस्त। देश-विदेश के पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र शाही रेलगाड़ी (पैलेस ऑन व्हील्स) का सफर 5 सितंबर से शुरू नहीं हो सकेगा। प्रतिवर्ष सितंबर के पहले सप्ताह से शाही रेलगाड़ी का सफर शुरू होता रहा है लेकिन इस बार कोरोना के कारण पर्यटकों ने बुकिंग रद कर दी है। राज्य के प्रमुख पर्यटन सचिव आलोक गुप्ता का कहना है कि अब नवंबर से शाही रेलगाड़ी का सफर शुरू करने पर विचार किया जा रहा है। उम्मीद है अगले दो माह में कोरोना महामारी का प्रकोप कम हो जाएगा। जानकारी के अनुसार इस साल फरवरी तक 370 केबिन की बुकिंग हो गई थी। इनसे पर्यटन विकास निगम को करीब 4 करोड़ रूपए एडवांस भी मिल गए थे लेकिन कोरोना के कारण उन्होंने अपनी बुकिंग निरस्त करा ली। पर्यटन विकास निगम ने शाही रेलगाड़ी के प्रत्येक सैलून को जयपुर, बीकानेर, बूंदी, जोधपुर, भरतपुर, अलवर, धौलपुर, डूंगरपुर, झालावाड़, जैसलमेर, कोटा, सिरोही और उदयपुर जिलों का नाम दिया गया है। प्रत्येक सैलून में राजपूताना की शान रहे राजा-महाराजाओं के नाम उनकी तस्वीरों एवं इतिहास के साथ दर्शाया गया है।

प्रति व्यक्ति 43 हजार रुपए है किराया
इस रॉयल सवारी में यात्रा के लिए प्रति व्यक्ति किराया 650 डॉलर अर्थात 43 हजार रूपए है। यह ट्रेन जयपुर से शुरू होकर सवाईमाधोपुर, चित्तोडगढ़, उदयपुर, जैसलमेर, जोधपुर, भरतपुर आगरा होते हुए दिल्ली तक संचालित होती है। उल्लेखनीय है कि शाही रेलगाड़ी पिछले 37 साल से हर वर्ष सितंबर से दिसंबर के बीच संचालित होती है। इसमें देशी-विदेशी पर्यटक काफी दिलचस्पी लेते हैं।