Sat. Jan 25th, 2020

सीएए पर विपक्ष को लगा एक और झटका

सोनिया ने आज बुलाई बैठक, बसपा, टीएमसी के बाद आप ने भी किया किनारा

नई दिल्ली, 13 जनवरी (एजेंंसी)। विपक्ष की आज नागरिकता संशोधन कानून (सीएए), राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) और यूनिवर्सिटी में हुई हिंसा पर बड़ी बैठक होने जा रही है। यह बैठक कांग्रेस के नेतृत्व में होने जा रही है। इसमें सभी मुद्दों पर चर्चा की जाएगी और रणनीति बनाई जाएगी। लेकिन इस बैठक से तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के बाद आम आदमी पार्टी ने भी किनारा कर लिया है। बसपा प्रमुख मायावती राजस्थान में बसपा विधायकों को कांग्रेस में शामिल करने से नाराज है। वहीं आम आदमी पार्टी दिल्ली में हो रहे विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखकर यह निर्णय लिया है क्योंकि वहां पर वह कांग्रेस के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे। इस बैठक में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी), द्रविड़ा मुनेत्र कजगम (डीएमके), इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग, लेफ्ट, राष्ट्रीय जनता दल (राजद), समाजवादी पार्टी (सपा) सहित कई पार्टियों शामिल होंगी। यह बैठक पार्लियामेंट एनेक्सी में दोपहर 2 बजे होने वाली है। इसमें कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी मौजूद रह सकते हैं। इसमें अहम मुद्दा जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू), जामिया मिलिया इस्लामिया और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में हुई हिंसा है। इस मामले में कांग्रेस ने फैक्ट फाइंडिंग कमेटी भी बनाई थी। जिसकी रिपोर्ट आलाकमान को सौंप दी है। कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सीएए के खिलाफ प्रदर्शनों और अर्थव्यवस्था की स्थिति को लेकर केन्द्र सरकार निशाना साधा और कहा था कि जेएनयू, जामिया मिलिया इस्लामिया और कुछ अन्य जगहों पर युवाओं और छात्रों पर हमले की घटनाओं की जांच के लिए विशेषाधिकार आयोग का गठन किया जाए।