Tue. Jul 16th, 2019

सुप्रीम कोर्ट की वकील इंदिरा जयसिंह, आनंद ग्रोवर के घर सीबीआई की छापेमारी

विदेशी चंदा दुरुपयोग मामला

नई दिल्ली, 11 जुलाई (एजेंसी)। विदेशी फंडिंग के नियमों के कथित उल्लंघन के मामले में सुप्रीम कोर्ट की वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह और उनके पति आनंद ग्रोवर के घर पर सीबीआई ने गुरुवार सुबह छापेमारी की। बताया जा रहा है कि ये छापेमारी उनके फाउंडेशन ‘लॉयर्स कलेक्टिव’ पर विदेशी फंडिंग को लेकर चल रहे मामले को लेेकर हुई है। सीबीआई ने मामला दर्ज कर लिया था। इसके बाद आज दिल्ली और मुंबई के उनके निवास पर जांच चल रही है।
लॉयर्स कलेक्टिव पर विदेशी चंदा विनियमन कानून को तोडऩे का आरोप है। इसके बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने लाइसेंस निरस्त कर दिया था। इस गड़बड़ी के सामने आने के बाद सीबीआई ने इस मामले में आनंद ग्रोवर और लॉयर्स कलेक्टिव पर केस दर्ज किया गया था। आपको बताते जाए कि आरोपों के अनुसार, इंदिरा जयसिंह जब 2009 से 2014 के बीच अडिशनल सॉलिसिटर जनरल थीं तो उस दौरान उनके एनजीओ ने विदेशी चंदे से जुड़े कानून का उल्लंघन किया। सीबीआई के अनुसार, उस वक्त इंदिरा जयसिंह के विदेश दौरों पर खर्च को एनजीओ के खर्च के रूप में दिखाया गया था और इसके लिए गृह मंत्रालय से जरूरी इजाजत भी नहीं ली गई थी। आरोपों के मुताबिक 2006-07 से 2014-15 के बीच लॉयर्स कलेक्टिव को 32.39 करोड़ रुपए का चंदा मिला था, जिसमे एफसीआरए एक्ट का उल्लंघन किया गया था। लॉयर्स कलेक्टिव द्वारा एफसीआरए एक्ट के कथित उल्लंघन के मामले में लॉयर्स वॉइस नाम के एक संगठन ने सुप्रीम कोर्ट में जनहित याचिका भी दायर की है। याचिका में एनजीओ पर विदेशी चंदे का इस्तेमाल देशविरोधी गतिविधियों के लिए करने का आरोप लगाया गया है।