September 25, 2020

सुरेश रैना के साथ है चेन्नै सुपरकिंग्स, मेरे बयान का गलत अर्थ निकाला गया: श्रीनिवासन

मुंबई, (एजेंसी)। चेन्नै सुपरकिंग्स के स्टार बल्लेबाज सुरेश रैना यूएई में आयोजित होने जा रहे आईपीएल 2020 टूर्नामेंट को छोड़कर देश लौट आए हैं। इस पर जब सोमवार को चेन्नै सुपरकिंग्स के मालिक और बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष एन. श्रीनिवासन का यह बयान सुर्खियों में छाया कि कामयाबी रैना के सिर चढ़कर बोल रही है। इसीलिए वह तुनकमिजाज हो गए हैं, तो रैना के फैन्स और जानकार हैरान हो गए, लेकिन श्रीनिवासन इस बात से नाराज हैं, उन्होंने कहा कि मीडिया ने उनके इस बयान को गलत अर्थों में पेश किया है। श्रीनिवासन ने कहा कि चेन्नै सुपरकिंग्स फ्रैंचाइजी में रैना का योगदान किसी से भी नंबर 2 पर नहीं है और यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि लोग बातों का गलत अर्थ निकाल रहे हैं। उन्होंने कहा कि सीएसके फ्रैंचाइजी में उनका (रैना) योगदान साल दर साल शानदार रहा है। मैं इस समय यह मानता हूं कि हमें समझना चाहिए कि रैना फिलहाल किन परिस्थितियों से गुजर रहे हैं और अभी हमें उन्हें समय देना चाहिए।

2008 से चेन्नै सुपरकिंग्स का हिस्सा
रैना आईपीएल के शुरुआत से ही यानी 2008 से चेन्नै सुपरकिंग्स का हिस्सा हैं और इस दौरान उनका प्रदर्शन सर्वोत्तम रहा है। वह चेन्नै बॉय हैं, जिन्हें कप्तान एमएस धोनी या थाला के बाद चिन्नाथाला (लीडरशिप में नंबर 2) नाम मिला है। रैना के नाम आईपीएल में 189 पारियों में, एक शतक और 38 हाफ सेंचुरी के साथ 5,368 रन शामिल हैं। इस दौरान रैना का स्ट्राइक रेट 137.14 रहा है, आईपीएल के 12 सीजन के बाद रैना इस लीग में सर्वाधिक रन बनाने के मामले में दूसरे नंबर पर हैं। इसके अलावा आईपीएल में सर्वाधिक मैच खेलने के मामले में भी नंबर एक खिलाड़ी हैं। रैना ने इस लीग में 193 मैच खेले हैं, जो धोनी (190) से भी 3 अधिक हैं। सीएसके के मालिक श्रीनिवासन ने कहा, ऐसा शानदार योगदान अमूल्य है। यह फ्रैंचाइजी हमेशा रैना के साथ खड़ी रहेगी और इन मुश्किल दिनों में भी उन्हें हमारा पूरा सहयोग रहेगा।

आइसोलेशन में जब बंद थे तो वह भयभीत होने लगे
रैना दुबई में अपने होटल के कमरे में आइसोलेशन में जब बंद थे तो वह भयभीत होने लगे। दुबई पहुंचने के बाद सीएसके टीम यहां ताज होटल में रुकी है और सभी खिलाडिय़ों ने प्रोटोकॉल के मुताबिक खुद को आइसोलेट कर लिया था। ऑलराउंडर खिलाड़ी रैना के पास रूम में ही टहलने के लिए पर्याप्त जगह नहीं थी, जिसके बाद उनकी परेशानियां और बढ़ गईं। इसके बाद रैना ने आईपीएल का यह सत्र छोडऩे का फैसला कर लिया और भारत वापस लौट आए है।