September 22, 2020

सोलह साल की नौकरी, तीन करोड़ की संपत्ति

उज्जैन में सीएमओ के ठिकानों पर छापे में मिले नोट ही नोट,जेवरात

उज्जैन, 16 सितम्बर (एजेंंसी)। लोकायुक्त ने एक बार फिर काली कमाई करने वाले धन कुबेर पर आय से अधिक का छापामार कार्रवाई की। उज्जैन लोकायुक्त निरीक्षक बसंत श्रीवास्तव ने बताया कि कुलदीप धनसुख 2004 में पंचायत सचिव के पद पर नौकरी पर लगे थे। इसके बाद नगरीय प्रशासन में राजस्व विभाग के सीएमओ तक पहुंच गए। कुल 16 साल की नौकरी में कुलदीप पर जमकर काली कमाई करने का आरोप है। बसंत श्रीवास्तव के मुताबिक अब तक कुलदीप की कुल आय 30 लाख होनी चाहिए थी, लेकिन उसके एवज में कुलदीप ने तीन करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति जमा कर ली। लोकायुक्त ने बडऩगर, माकड़ोन और उज्जैन के शिवांश पैराडाइज में कार्रवाई की। लोकायुक्त को 4 लाख नगद, सोने चांदी के जेवरात, 3 एकड़ जमीन के कागजात, बडऩगर में एक मकान, उज्जैन में दो मकान की जानकारी मिली। इसके अलावा 16 साल की नौकरी के दौरान माकड़ौन में एक मकान, उज्जैन में एक कमर्शियल कॉम्लेक्स, 2 लग्जरी कार, 2 टू व्हीलर सहित अन्य दस्तावेज मिले हैं। जानकारी के लोकायुक्त की टीम जुटा रही है। संपत्ति के और भी दस्तावेज मिलने की संभावना है।