September 24, 2020

स्ट्रीट वेण्डर्स को योजनाओं का लाभ देने के लिए अभियान चलाएं: मुख्यमंत्री

जयपुर, 12 सितम्बर। प्रदेश के सभी बड़े शहरों और नगरपालिका क्षेत्रों में रेहड़ी-ठेला-पटरी आदि लगाने वाले तथा स्ट्रीट वेण्डर्स के रूप में गुजर-बसर करने वाले शहरी गरीबों को चिन्हित कर उन्हें विभिन्न योजनाओं का लाभ दिलवाने के लिए अभियान चलाया जाएगा। ये निर्देश कल मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री निवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए स्वायत्त शासन विभाग की ओर से संचालित योजनाओं की समीक्षा बैठक को संबोधित करते हुए दिए।
उन्होंने कहा कि बड़ी संख्या में स्ट्रीट वेण्डर्स को अपनी आजीविका के साधन को संचालित करने के लिए छोटी-छोटी राशि की जरूरत होती है। ऐसे में, इन वेण्डर्स को अभियान चलाकर प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना जैसी योजनाओं से लाभान्वित करें। योजना के तहत रेहड़ी-ठेला-पटरी आदि लगाने वाले वेण्डर्स को 10 हजार रुपए तक का ऋण सस्ती ब्याज से उपलब्ध कराया है। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि स्थानीय अधिकारी दीनदयाल अन्तोदय योजना के तहत प्रदेश के सभी निकाय क्षेत्रों में स्ट्रीट वेण्डर्स को इस योजना का लाभ मिलना सुनिश्चित करावें। इसके लिए लॉकडाउन तथा कोविड संक्रमण की परिस्थितियों के दौरान जिला प्रशासन द्वारा तैयार की स्ट्रीट वेण्डर्स सूचियों के आधार पर भी लाभार्थियों को चिन्हित कर उन्हें ऋण तथा ब्याज दर पर 7 प्रतिशत अनुदान का लाभ दिलाया जा सकता है। इस दौरान बैठक में यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल, मुख्य सचिव राजीव स्वरूप, प्रमुख सचिव स्वायत्त शासन भवानी सिंह देथा, शासन सचिव वित्त टी. रविकांत सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।