October 23, 2020

130 किमी से ज्यादा रफ्तार वाली ट्रेनों में सिर्फ एसी में सफर

नॉन एसी और जनरल कोच हटेंगे

नई दिल्ली, 12 अक्टूबर (एजेंसी)। मेल-एक्सप्रेस गाडिय़ों को रेल विभाग 130 किलोमीटर से 160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलाने की तैयारी कर रहा है। इन मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों से स्लीपर कोच को पूरी तरह खत्म कर दिए जाएगा। यानी इन ट्रेनों में सिर्फ एसी बोगियां ही रहेंगी। दरअसल मेल और एक्सप्रेस ट्रेन के 130 किमी प्रति घंटे या उससे अधिक की रफ्तार से चलने पर नॉन-एसी कोच तकनीकी समस्याएं पैदा करती हैं। इसलिए इस तरह की सभी ट्रेनों से स्लीपर कोच को खत्म कर दिया जाएगा। लंबी दूरी की मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों में फिलहाल 83 एसी कोच लगाने का प्रस्ताव है। हालांकि इसका यह मतलब कतई नहीं है कि अब नॉन एसी कोच होंगे ही नहीं। असल में नॉन एसी कोच वाली ट्रेन की रफ्तार एसी कोच वाली ट्रेनों के मुकाबले कम होगी। ऐसी ट्रेन 110 किमी प्रति घंटे रफ्तार से चलाई जाएंगी। रेल मंत्रालय के प्रवक्ता डी. जे. नारायण ने कहा कि इस तरह की रेलगाडिय़ों में टिकट की कीमत सस्ती होगी। उन्होंने स्पष्ट किया कि इसे गलत तरीके से नहीं समझा जाना चाहिए कि सभी गैर वातानुकूलित कोच को एसी कोच बनाया जाएगा। वर्तमान में अधिकतर मार्गों पर मेल-एक्सप्रेस रेलगाडिय़ोंं की गति 110 किलोमीटर प्रति घंटा या कम है।