September 22, 2020

50 घरों का गांव, 40 पर लटके ताले

कोरोना के खौफ से 90 प्रतिशत ग्रामीणों ने किया गांव से पलायन

सांध्य ज्योति संवाददाता
जयपुर, 29 अगस्त। राजस्थान के कोटा जिले में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस ग्रामीण क्षेत्रों में अपना पैर पसार रहा है। ग्रामीण इलाकों में कोरोना का प्रकोप बढऩे के साथ ही ग्रामीणों में इसका खौफ पैदा हो गया है जिसकी एक विचित्र तस्वीर कोटा जिले में सामने आई है।कोरोना के डर से खतौली थाना क्षेत्र स्थित गुवाड़ी गांव के 90 प्रतिशत घरों पर ताला जड़कर ग्रामीण गांव से गायब हो गए हैं। इस बात का पता तब लगा जब इटावा ब्लॉक के सीएमएचओ मेडिकल टीम लेकर ग्रामीणों के रैंडम सैंपल लेने गांव पहुंचे। गांव में बचे-खुचे लोगों ने मेडिकल टीम को बताया कि लोग तड़के 4 बजे घरों पर ताला लगाकर कहीं चले गए हैं। गांव में मिले ग्रामीणों की बात सुनकर मेडिकल टीम व ब्लॉक सीएमएचओ डॉ यादवेंद्र शर्मा चकित रह गए। डॉक्टर यादवेंद्र शर्मा के मुताबिक 11 अगस्त को गुवाड़ी गांव में एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। उसके बाद गांव में 21 अगस्त को करीब 40 लोगों के सैंपल कलेक्ट किए गए थे और गांव में 11 व्यक्ति फिर कोरोना पॉजिटिव मिल। मेडिकल टीम ने 7 लोगों को तत्काल कोटा न्यू मेडिकल कॉलेज में उपचार के लिए भर्ती करा दिया था लेकिन चार महिलाएं अपने घरों से गायब हो गई थीं।

40 घरों पर लटके हैं ताले
मेडिकल टीम बिना किसी सूचना के फिर गुवाड़ी गांव में जब कोरोना सैंपल लेने के लिए गई, तो ग्रामीण अपने घरों पर ताला लगाकर गायब हो गए। इस गांव में अब तक 12 लोग कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। इटावा ब्लॉक सीएमएचओ डॉ यादवेंद्र शर्मा के मुताबिक गुवाड़ी गांव में 50 घर हैं। 90 प्रतिशत घरों पर ताले जड़े हुए हैं। खेतों में भी लोग नजर नहीं आ रहे हैं।