October 28, 2020

ब्राइडल लुक के लिए जूलरी खरीदते वक्त रखें इन बातों का ध्यान

शादी के लिए जूलरी के शॉपिंग की जिम्मेदारी ज्यादातर घर के बड़े-बूढ़ों के कंधों पर होती है क्योंकि उन्हें इसकी सही परख होती है इसमें कोई शक नहीं। लेकिन उनका ध्यान खासतौर से खूबसूरत दिखने वाले भारी-भरकम जूलरी पर होता है जो कई बार दुल्हनों के ओवर ऑल लुक पर नहीं जंचता। अच्छे-खासे लहंगे के साथ अगर आपकी जूलरी सही नहीं तो वैसा लुक मिलना नामुमकिन है जैसा आपने सोचा है। इस चीज़ से बचने के लिए बेहतर होगा आप जूलरी की शॉपिंग के दौरान कुछ बातों को नजरअंदाज बिल्कुल न करें।’

1. ज्यादातर ब्राइड्स जूलरी खरीदते समय उसे लहंगे से मिक्स एंड मैच कराती हैं जो बेशक शादी वाले दिन परफेक्ट लुक पाने के लिए बेस्ट होता है लेकिन शादी के बाद ब्लू, ग्रीन और भी अलग-अलग कलर के स्टोन्स वाली ये जूलरी ट्रेडिशनल या वेस्टर्न सबके साथ अच्छी लगे इसकी कोई गारंटी नहीं होती। बेहतर होगा आप इस तरह की जूलरी चुनें जिसे आसानी से और अलग-अलग तरीकों से पहना जा सके। आजकल नेकलेस को आप ब्रेसलेट्स की तरह भी कैरी कर सकती हैं।

2. जूलरी जाने-माने ज्वैलर्स के यहां से ही खरीदें इससे किसी तरह की गड़बड़ी होने के चांसेज़ कम होते हैं और उसका बिल भी जरूर बनवाएं जिससे बाद में एक्सचेज़ या किसी तरह के बदलाव करने में आसानी रहे।

3. जूलरी चुनते समय उसके डिज़ाइन पर भी नजऱ रखें। ऐसे डिज़ाइन्स चुनें जिन्हें आप सालों-साल कैरी कर सकें। डायमंड, कुंदन और पोल्की के साथ किसी एक ही कलर वाले जेमस्टोन्स से सज़ी हुई जूलरी खरीदने का ऑप्शन अच्छा रहेगा।

4. जूलरी खरीदते वक्त अपनी स्किन टोन और फेस शेप का भी ध्यान रखें। मार्केट में चोकर से लेकर रानी, लेयर्ड और बिब नेकलेसेज़ जैसे कई ऑप्शन्स अवेलेबल हैं तो अपने ओवर ऑल लुक का ध्यान रखते हुए ही इनकी शॉपिंग करें।

5. शादी के लिए पहले जूलरी फिर आउटफिट्स की शॉपिंग करें। ऐसा इसलिए क्योंकि जूलरी में अच्छा-खासा इन्वेस्टमेंट होता है और आउटफिट्स की शॉपिंग इसके मुकाबले कम बजट में पॉसिबल है।

6. शादी में किस तरह की जूलरी पहनना चाह रही हैं इसकी प्लानिंग कम से कम 6 महीने पहले से ही करनी शुरू कर दें।

पोल्की, डायमंड, कुंदन जैसे कई सारे स्टोन्स हैं जो आसानी से आपके आउटफिट्स के साथ मैच भी हो जाते हैं और दिखने में भी रॉयल और स्टाइलिश लुक देते हैं।