Wed. Sep 18th, 2019

डायबिटीज, हृदय रोगों, मोटापा और पीसीओएस जैसी खतरनाक बीमारियों से बचाता है ये चमत्कारी मसाला

दालचीनी बेहतर स्वाद और सुगंध प्रदान करने वाला एक मसाला है। जिसे आप स्वास्थ्य लाभ के नजरिए से देख सकते हैं। दालचीनी एक अद्भुत मसाला है जो कि औषधीय गुणों से भरपूर होता है, जिसका उपयोग औषधीय प्रयोजनों के लिए किया जाता है। दालचीनी एंटीऑक्सिडेंट के साथ भरी हुई है जो आपको मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से बचा सकती है। इस मसाले में एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-बैक्टीरियल गुण भी होते हैं। प्राकृतिक रूप से कई स्वास्थ्य स्थितियों से निपटने में दालचीनी आपकी मदद कर सकती है। यह कई स्वास्थ्य मुद्दों से निपटने के लिए आपका एक बेहतर समाधान हो सकता है।

पीसीओएस के लिए दालचीनी
पॉलीसिस्टिक ओवरियन सिंड्रोम से आज लाखों महिलाएं प्रभावित हैं। पीसीओएस को नियंत्रित करने के लिए दालचीनी को आयुर्वेदिक विधि के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। न्यूयॉर्क शहर के कोलंबिया यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर में किए गए एक शोध में कहा गया है कि पीसीओएस के लिए दालचीनी को एक प्राकृतिक उपचार के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। शोध में कहा गया है कि दालचीनी के दैनिक उपभोग से महिलाओं को छह महीने की अवधि में लगभग दो बार मासिक धर्म का अनुभव करने में मदद मिली।

बैक्टीरिया और फंगल संक्रमण के लिए दालचीनी
दालचीनी में एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं जो संक्रमण से बचाते हैं। आप दालचीनी को विभिन्न खाद्य पदार्थों में जोड़ सकते हैं या दालचीनी की चाय तैयार कर सकते हैं। इस जादुई मसाले का नियमित सेवन फंगल संक्रमण के विकास को भी रोक सकता है।

वजन कम करने के लिए दालचीनी
वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं तो उसमें भी दालचीनी आपकी मदद कर सकती है। दालचीनी वजन घटाने का समर्थन करती है और भूख को कम करती है। वजन घटाने के लिए आपको शहद और दालचीनी की चाय तैयार करनी होगी। इस चाय को तैयार करने के लिए, एक कप पानी उबालें और इसमें आधा चम्मच दालचीनी मिलाएं। इसे 5 मिनट तक उबलने दें। 5 मिनट के बाद पानी को ठंडा होने दें। एक बार जब यह कमरे के तापमान पर हो तो इसमें शहद मिलाएं। वजन घटाने के लिए बिस्तर पर जाने से पहले हर रात इस चाय का आनंद लें।

दिल की बेहतर सेहत के लिए दालचीनी
आप दालचीनी से दिल की बीमारियों के खतरे को नियंत्रित कर सकते हैं। दालचीनी खराब कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स के स्तर को कम कर सकती है जिसके परिणामस्वरूप बेहतर हृदय स्वास्थ्य हो सकता है। एंटीऑक्सिडेंट की उपस्थिति भी इसे बेहतर हृदय स्वास्थ्य के लिए एक उपयुक्त पूरक बनाएगी।

डायबिटीज के लिए दालचीनी
डायबिटीज मैनेजमेंट ब्लड शुगर लेवल के प्रबंधन से जुड़ा है। दालचीनी का उपयोग रक्त शर्करा के स्तर को कम करने के लिए किया जा सकता है। इसमें मधुमेह विरोधी गुण होते हैं जो इसे मधुमेह के रोगियों के लिए फायदेमंद बनाता है। भोजन में दालचीनी का सेवन रक्तप्रवाह में प्रवेश करने वाले ग्लूकोज की मात्रा को नियंत्रित करने का काम करती है। यदि आप अपने दैनिक आहार में दालचीनी जोड़ते हैं और अपने रक्त शर्करा के स्तर को स्वाभाविक रूप से नियंत्रित करते हैं।