September 22, 2020

पर्यटकों को आकर्षित करता 500 फीट ऊंचाई पर स्थित गरडिया महादेव मंदिर

कोटा शहर से थोडी दूरी पर समुद्र तल से 500 फीट की ऊंचाई पर स्थित गरडिया महादेव मंदिर शिव का समर्पित एक लोकप्रिय शिव मंदिर हैं। यह मंदिर दुनिया भर के पर्यटकों को आकर्षित करने में कामयाब रहा हैं। गरडिया महादेव एक ऐसा स्थान हैं जो एक पिकनिक स्थल के रूप में भी जाना जाता है, और लोग अक्सर यहां पिकनिक मानाने के लिए आते हैं। क्योंकि चंबल नदी के तट पर स्थित होने के कारण नदी के पानी के जल की वजह से यहां शांति का एहसास तो होता ही है साथ में नदियों से उत्पन कई मनमोहक दृश्य देखने को यहा मिल जाते हैं।
कई मोर और अन्य एवियन प्रजातियों की उपस्थिति पक्षियों और फोटोग्राफी के शौकीनों को आकर्षित करती है। जो पर्यटकों के घूमने के लिए कोटा की सबसे लोकप्रिय जगहों में से मानी जाती जाती है। गरडिया महादेव मंदिर यात्रा के दौरान मंदिर पर चढऩे के लिए आपको सावधान रहने की जरूरत है क्योंकि चट्टानें फिसलन भरी हो सकती हैं, जिससे दुर्घटनाओं की संभावना बढ़ जाती है। यात्रा के समय भोजन और पर्याप्त पानी ले जाएं क्योंकि यात्रा स्थल पर कोई दुकानें, खाद्य स्टाल या भोजनालय नहीं हैं। अपने आईडी कार्ड साथ अवश्य लेकर चले क्योंकि जंगल में प्रवेश बिंदु पर इसकी आवश्यकता पड़ सकती है। मंदिर में बंदरों को खाने की चीजें देने से बचें क्योंकि वे कई बार हिंसक हो सकते हैं। अपने मंदिर की यात्रा के बारे में शहर के कुछ विश्वसनीय संपर्कों को सूचित करें क्योंकि मंदिर क्षेत्र में कोई मोबाइल नेटवर्क नहीं है। इस प्रकार, आपात स्थिति के मामले में, आप संबंधित अधिकारियों से नहीं जुड़ पाएंगे। गरडिया महादेव मंदिर श्रद्धालुओं के घूमने के लिए प्रतिदिन सुबह 6.00 बजे से शाम 7.00 बजे तक खुला रहता है, और आपकी जानकरी के लिए अवगत करा दे गरडिया महादेव मंदिर पूर्ण और आनंदमयी यात्रा के लिए 1-2 घंटे का समय निकालकर यात्रा सुनिश्चित करें। मंदिर घूमने के लिए सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मार्च तक का समय होता है। क्योंकि सर्दियों का मौसम कोटा राजस्थान की यात्रा करना एक अनुकूल समय होता है। आपको बता दे मार्च से शुरू होने वाली ग्रीष्मकाल के दौरान कोटा की यात्रा से बचें क्योंकि इस समय कोटा राजस्थान का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाता है। जो आपकी कोटा की यात्रा को हतोत्साहित कर सकता है।