October 28, 2020

क्या आपका पार्टनर भी नहीं है खुद में बदलाव लाने को तैयार तो जानें कैसे करें ऐसे पार्टनर को हैंडल

अक्सर पार्टनर खुद को बदलने के लिए असहमत हो सकते हैं, भले ही इस बदलाव के पीछे सकारात्मक परिणाम ही क्यों न हो। ऐसे में आपको चीजों को ठीक करने के लिए कुछ अतिरिक्त प्रयास करने की आवश्यकता है। आपको पता होना चाहिए कि आप इस स्थिति को कैसे हैंडल करें। आइए यही सब इस लेख में हम आपको बताते हैं।

अगर आपका पार्टनर खुद को बदलना न चाहे, तो क्या करें

रिश्ते में समस्याओं के कारण
अक्सर हम सभी अपने पार्टनर की उन आदतों या व्यवहार को बदलना चाहते हैं, जिससे कि उन्हें या हमें, आज या भविष्य में परेशानी हो सकती है। यदि आपके पार्टनर की कोई बुरी आदतें या कोई नकारात्मक पक्ष है और वह इसे बिल्कुल नहीं बदल सकता है, तो यह कई समस्याएं पैदा करता है। जैसे: परिवार के लिए समय कम देना, इमोशनली अब्यूसिंग, बहुत अधिक पैसा खर्च करना, नौकरी में दिक्कतें आदि। तो आइए यहां जानिए कि कैसे आप अपने पार्टनर की इस तरह की आदतों से निपटें और उनका सामना करें।

कैसे सामना करें
आपको एक बात याद रखनी होगी कि किसी व्यक्ति के लिए रातोंरात बदलना संभव नहीं है। इसलिए अगर आप अपने पार्टनर को बदलना चाहते हैं, तो एक दिन में बदलाव की उम्मीद न रखें। बदलाव लाने या किसी को बदले में बहुत समय लगता है और हां आप उस व्यक्ति को पूरी तरह से बदल नहीं सकते हैं। लेकिन आप अपने पार्टनर को बदलने के लिए समस्याओं के प्रति अपनी प्रतिक्रिया बदल सकते हैं। इसलिए आप अगली बार से, एक तर्क या डिबेट में शामिल होने के बजाय, अपने साथी को समझें और समझाएं, ताकि वे स्थिति की गंभीरता को जान सकें और बदलने की कोशिश करें।

खुद को जानें और खुद को भी बदलें
अगर आप अपने पार्टनर को बदलना चाहते हैं, तो उसके लिए आपको खुद को भी बदलना होगा। खुद को बदलना भी काफी हद तक संभव है। इसलिए, अपनी सीमाओं को जानें और खुद को पहचानें। अपने आप से पूछें कि कब तक आप शांत रह पाएंगे जब कुछ भी नहीं बदलता है। जरूरत पडऩे पर थेरेपी या काउंसलिंग के लिए जाएं। आपके बदले व्यवहार से हो सकता है कि आपका पार्टनर खुद ही खुद को बदलने के लिए तैयार हो जाए।

कठिन चीजों, बातों और स्थितियों को हैंडल करना सीखें
किसी भी फैसले पर पहुंचने से पहले जरूरी है कि आप अपने पार्टनर के साथ बैठकर उन मुद्दों को उठाने के लिए वन-टू-वन बातचीत करें कि वे बिल्कुल भी नहीं बदल सकते। जब आप इस स्थिति को हैंडल कर रहे हों, तो आप अपने पार्टनर के साथ बातचीत करते समय इन बिंदुओं को याद रखें:-

  • बिना टकराव के बातचीत से चीजों को सुलझाएं।
  • हमेशा बात करने के लिए एक समय चुनें जब आप में से कोई भी थका हुआ और खराब मूड में न हो।
  • अपने पार्टनर को समझाएं कि क्यों आप उनमें कोई बदलाव चाहते हैं और यह बताएं कि ये समस्या रिश्ते को कैसे प्रभावित कर रही है।
  • कोई ज्ञान या भाषण देने के बजाय केवल विषय पर केंद्रित रहें।
  • आप अपनी अपेक्षाओं को पूरा करें, यानी आप क्या चाहते हैं और क्या आपको खुश करता है।
  • इस तरीके से यदि आप अपने पार्टनर में बदलाव लाने की कोशिश करेंगे, तो वह खुद को जरूर बदलेंगे या बदलने की कोशिश करेंगे।