Fri. Mar 22nd, 2019

लंबी दूरी के रिश्तों में कैसे बरकरार रखें भरोसा और प्यार?

पास रहने पर रिश्तों में ज्यादा मिठास और प्यार होता है। एक-दूसरे की नजरों के सामने रहना, केयर करना, दोनों का आपस में स्पर्श आदि कई चीजें हैं जो रिश्तों को मजबूत डोर से बांधे रखती हैं। ऐसे में आप दोनों एक-दूसरे का ज्यादा ख्याल भी रख पाते हैं, लेकिन ये नजदीकियां अगर दूरी में बदल जाए तो ये सब मुमकिन नहीं हो पाता। लंबी दूरी के रिश्तों में पार्टनर्स को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। ऐसी स्थिति में कई बार दोनों के बीच विश्वास, प्रेम और लगाव कम होने लगता है। एक-दूसरे को समय न दे पाने की वजह से वैचारिक मतभेद भी दिखाई देने लगते हैं। इन सभी चुनौतियों से निपटने के लिए हम आपको कुछ ऐसे रिलेशनशिप टिप्स के बारे में बता रहे हैं जिससे लंबी दूरी में भी आप दोनों का प्यार कभी कम नहीं होगा।
बातचीत जारी रखें : क्योंकि लंबी दूरी के रिश्तों में रोज़ एक दूसरे से मिल नहीं सकते हैं, इसलिए आपका एक दूसरे से ज्यादा से ज्यादा भावनात्मक रूप से जुड़े रहना जरूरी है। इसके लिए जरूरी है कि रोज़ाना अपनी पत्नी या गर्लफ्रेंड के साथ लम्बी बातचीत करें। इस तरह रोज़ाना की बातचीत दोनों को अहसास दिलाती है कि आप एक दूसरे की परवाह करते हैं और इस रिश्ते को पूरी ईमानदारी से निभा रहे हैं। साथ ही इस तरह आप प्यार से ही एक दूसरे की पूरी जानकारी भी रख पायेंगे।
वीडियो कॉल जरूर करें : एक दूसरे को कांटेक्ट करने के वाले हर माध्यम को ऑन रखें और उसका समय समय पर प्रयोग करें, जैसे मैसेज, मेल या फिर सबसे बेहतर तरीका वीडियो चैटिंग। टाइम मैनेजमेंट लंबी दूरी के रिश्तों की रीड़ होती है, अपने आपसी समय की उपलब्धता अनुसार संपर्क करें। दिन में कम से कम एक बार वीडियो कॉल जरूर करें, इससे दूरी का एहसास नहीं होगा और प्यार बरकरार रहेगा।
पर्सनल बातें शेयर करें : दूर जाने पर अक्सर लोग अपनी पर्सनल बातें शेयर करना छोड़ देते हैं। ऐसे में रिश्ते कमजोर होने लगते हैं। अगर आप दूर रहकर भी अपने रिश्तों में मिठास और प्यार चाहते हैं तो पर्सनल बातें जरूर शेयर करें। बात-बात में उन पलों को जरूर दोहराएं जिसमें आप दोनों सबसे ज्यादा खुश थे। फिजिकल रिलेशन के बारे में भी बात करें।
भरोसा रखें : लंबी दूरी के रिश्तों का मतलब होता है एक दूसरे से दूर रहकर रिश्तों को निभाना। देखा गया है कि लड़कों के लिये लंबी दूरी के रिश्तों में रहना थोड़ा मुश्किल होता है। खासतौर पर उनका अपनी महिला साथी पर यकीन कर पाना बड़ा कठिन हो जाता है। उन्हें डर रहता है कि उनकी साथी कहीं उन्हें धोखा न दे। लेकिन रिश्ता चाहे दूरी का हो या नजदीक का, इसे हंसी-खुशी चलाने के लिये विश्वास और बाकी कुछ चीज़ों की जरूरत होती है।
मन में संदेह हो तो उसे भी शेयर करें : आपका रिश्ता सच्चा है और आप इसका एक बेहतर भविष्य देखते हैं। इसलिये इसे जितना हो सके साफ और सच्चा रखें। खुशी के पलों की बातों के साथ-साथ दहशतपूर्ण एवं कठिन विषयों पर भी एक दूसरे से बात करें। इस मौके को आप ईमानदारी से एक साथ अपनी भावनाओं का पता लगाने के एक कमाल के अवसर के रूप में समझें।
पॉजिटिव रहें : किसी भी रिश्तों में पॉजिटिव रहना बहुत जरूरी होता है। हालांकि इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि आप अपनी बातों को छिपाएं। हमेशा छोटी सी छोटी बातों को साझा करें। अपनी कमियों के बारे में भी बताएं। हमेशा खुश रहने की कोशिश करें। और उस पल का इंतजार करें जब आप कई दिनों बाद दोबारा मिलेंगे और बीते पलों को फिर से जीएंगे।