Wed. Feb 19th, 2020

प्यार बना सकता है बीमार!

इश्क में पड़ते ही शरीर में दिखते हैं ये साइड इफेक्ट्स

लव, प्यार, इश्क, मोहब्बत, ये कब-किसे-कहां-कैसे और क्यों हो जाता है ये कोई नहीं जानता और इसके पीछे किसी तरह का कोई स्पष्ट कारण भी नहीं होता। ऐसा इसलिए क्योंकि प्यार तो एक अहसास है जो किसी के लिए अचानक हमारे मन में समा जाता है। कई बार तो उस व्यक्ति को बता भी नहीं होता कि वह किसी के प्यार में पड़ गया है। लेकिन यही प्यार आपकी लाइफ को जितना खुशनुमा बना देता है वहीं, ये प्यार आपको बीमार भी कर सकता है और इसी इश्क के शरीर पर कुछ साइड इफेक्ट्स भी नजर आते हैं। ऐसा हम नहीं कह रह है बल्कि रिसर्च कह रही है।

एक तरह का अडिक्शन है प्यार
सभी कॉमेंट्स देखैंअपना कॉमेंट लिखेंअमेरिका की न्यू जर्सी स्थित रटगर्स यूनिवर्सिटी में साल 2010 में हुई एक स्टडी की रिपोर्ट में यह बात सामने आई है कि प्यार एक तरह का नशा होता है। यह आपके दिमाग के उन हिस्सों को पूरी तरह से कंट्रोल कर लेता है जिनसे आप जरूरी निर्णय लेते हैं। ऐसा इसलिए होता है कि क्योंकि जब आप प्यार में पड़ते हैं तो दिमाग में डोपामाइन, ऑक्सिटोसिन, ऐड्रनलिन और वैसोप्रेसिन जैसे कई केमिकल्स रिलीज होते हैं। जैसे किसी व्यक्ति को ड्रग्स लेने पर उसकी लत लग जाती है ठीक उसी तरह दिमाग में इन केमिकल्स के रिलीज होने पर आप जिस व्यक्ति से प्यार करते हैं आपको उसकी लत लग जाती है, उसका अडिक्शन हो जाता है।

पेट में गुडग़ुड़ाहट होने लगती है
प्यार सिर्फ नशा ही नहीं है, बल्कि आपको बीमार भी बना देता है। बीमार होने का मतलब ये नहीं आप बिस्तर पकड़ लेंगे लेकिन शरीर में कुछ बदलाव या यूं कहें कि साइड इफेक्ट्स नजर आने लगते हैं। इस पूरी स्थिति को लवसिकनेस कहते हैं। दरअसल, प्यार होते ही हमारे शरीर में मौजूद स्ट्रेस हॉर्मोन कॉर्टिसोल रक्त वाहिकाओं के जरिये हमारे पेट में पहुंच जाता है। इसकी वजह से पेट में गुडग़ुड़ाहट होने लगती है और आपको भूख भी महसूस नहीं होती। ऐसा लगता है कि आप बीमार हो गए हैं।

भूख-प्यास नहीं लगती
रटगर्स यूनिवर्सिटी के रिसचर्स ने रोमाटिंक रिलेशनशिप में डूबे लोगों पर अध्ययन किया तो पाया कि ब्रेन का वो हिस्सा जो सामने वाले व्यक्ति को क्रिटिकली परखता है वह हिस्सा प्यार में पड़े लोगों में कमजोर हो जाता है और व्यक्ति को अपने पार्टनर में कमियां या तो नजर ही नहीं आतीं या बेहद कम नजर आती हैं। दिमाग का ये हिस्सा ही आपकी भूख प्यास और मॉनिटरी गेंस को इंस्टिगेट करता है लिहाजा प्यार में इन सब चीजों पर भी असर पड़ता है।

प्यार में नींद नहीं आती
एक्सपर्ट्स की मानें तो जब आपको सच्चा प्यार होता है तो ब्रेन में डोपामाइन जैसे ढेर सारे केमिकल्स भरे होते हैं जिस वजह से व्यक्ति को ऐसा महसूस होता है कि वह सातवें आसमान पर है। शरीर में बहुत ज्यादा एनर्जी महसूस होती है और रात-रात भर नींद नहीं आती। हालांकि एक्सपर्ट्स की मानें तो नींद न लेने की वजह से ही कई तरह की दिक्कतें हो सकती हैं जैसे- वजन बढऩा, हाई ब्लड प्रेशर आदि।