September 28, 2020

मानसून स्वास्थ्य और खान-पान…

मानसून लगभग पूरे भारत में दस्तक दे चुका है और जगह-जगह पर लगातार बारिश भी शुरू हो चुकी है। ऐसे में कई लोग अपनी जरूरत के लिए घर से बाहर भी निकल रहे हैं और उन्हें बारिश में भीगना भी पड़ रहा है। मानसून में होने वाली बरसात कई सारी बीमारियों की वजह भी बन जाती है, इसलिए अपनी सेहत का खास ख्याल रखने की जरूरत है। ऐसा न करने की स्थिति में हो सकता है कि आप किसी ना किसी स्वास्थ्य समस्या से जरूर परेशान हो जाएं। खासकर कोरोना वायरस महामारी के इस दौर में बीमार होने के बाद आप अस्पताल बिल्कुल भी नहीं जाना चाहेंगे, इसलिए पहले से तैयारी करना बहुत जरूरी है। आइए अब जानते हैं कि कौन-सी 5 टिप्स हैं जो बारिश में भीगने के बाद सभी को फॉलो चाहिए। बारिश में भीगने के बाद आपको जो बीमारियां अपनी चपेट में लेंगी, उनके लक्षण आपको काफी हद तक कोरोना वायरस के लक्षण से मिलते-जुलते भी दिखाई दे सकते हैं। बारिश में भीगने के बाद अक्सर लोगों को पहले सर्दी, जुकाम और खांसी की समस्या होती है। जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत नहीं होती, वह सर्दी खांसी और जुकाम की चपेट में आने के बाद तुरंत बुखार से भी पीडि़त हो जाते हैं। इसके अलावा बारिश में भीगने के बाद सिरदर्द, स्किन एलर्जी और आंखों के संक्रमण का खतरा भी बढ़ जाता है।

बारिश में सिर का रखें ध्यान
सिर हमारे शरीर का पहला हिस्सा होता है जहां पर बारिश का पानी सबसे पहले पड़ता है। हमारे शरीर की पूरी कार्यप्रणाली सिर के जरिए ही संचालित होती है। सिर का हिस्सा काफी कोमल भी होता है। चलिए थोड़ी देर तक बारिश का पानी पडऩे के बाद हमें ठंडक महसूस होने लगती है। ऐसी स्थिति में सबसे पहले अपने सिर को ढक लें और कोशिश करें कि बारिश का पानी सिर पर जितना कम हो सके, उतना कम पड़़े।

कपड़ों को बदलने में न करें देरी
बारिश में भीगने के बाद जैसे ही घर पहुंचे तुरंत अपने कपड़ों को बदल लें। ऐसा करने से आपके शरीर का तापमान सामान्य अवस्था में आ जाएगा और आपको ठंड भी नहीं लगेगी। इसके साथ-साथ बारिश के मौसम में कई प्रकार के फंगल संक्रमण का खतरा भी रहता है। कपड़ों को तुरंत बदलने के कारण इस पर मौजूद फंगस, संक्रमण नहीं फैला पाएंगे।