Wed. Feb 19th, 2020

होम प्रेग्नेंसी टेस्ट से जुड़ी ये बातें जानना है जरूरी

प्रेग्नेंसी आपके लिए सरप्राइज की तरह आयी हो या फिर आप लंबे समय से प्रेग्नेंट होने की कोशिश कर रही हों…दोनों ही सूरत में प्रेग्नेंसी टेस्ट करना किसी भी लड़की या महिला के लिए स्ट्रेस से भरा हो सकता है। टेस्ट नेगेटिव होगा, पॉजिटिव होगा…ये सारी टेंशन दिमाग में चलती रहती है। ऐसे में प्रेग्नेंसी टेस्ट करने का सही समय क्या है और घर पर किए जाने वाले होम प्रेग्नेंसी टेस्ट से जुड़ी अहम बातें, यहां जानें।

कब करना चाहिए प्रेग्नेंसी टेस्ट?
आमतौर पर मिस्ड पीरियड्स या पीरियड में होने वाली देरी प्रेग्नेंसी की ओर इशारा करती हैं और आप प्रेग्नेंसी टेस्ट करने के लिए हड़बड़ा जाती हैं। लेकिन ये टेस्ट करने से पहले आपको कुछ समय का इंतजार जरूर करना चाहिए। सेक्स करने के 1 या 2 हफ्ते बाद या फिर पीरियड्स मिस होने के 10 दिन बाद प्रेग्नेंसी टेस्ट करना आपके लिए बेहतर होगा।

…ताकि मिल सके सही रिजल्ट
प्रेग्नेंसी कंफर्म करने के लिए वेटिंग टाइम जरूरी है क्योंकि प्रेग्नेंसी हॉर्मोन एचसीजी को डिटेक्ट करना होता है और यह आमतौर पर इम्प्लांटेशन साइकल के पूरा होने या एग के फर्टिलाइज होने के 7 से 12 दिन के अंदर होता है। एक बार ऐसा हो जाए फिर ये प्रेग्नेंसी हॉर्मोन हर 48 घंटे में दोगुना होने लगता है और फिर टेस्ट करने पर सही नतीजे पता चलते हैं।

सुबह टेस्ट करना है ज्यादा फायदेमंद
एक्सपर्ट्स की मानें तो दिन या रात की बजाए सुबह-सुबह उठते के साथ पहले यूरीन के साथ होम प्रेग्नेंसी टेस्ट करना सबसे सही माना जाता है और इसके नतीजे सबसे ऐक्युरेट आने की संभावना रहती है। ऐसा इसलिए क्योंकि रात की तुलना में सुबह के यूरीन में एचसीजी हॉर्मोन की अधिकता होती है। साथ ही साथ टेस्ट करने से पहले ज्यादा पानी न पिएं वरना टेस्ट के नतीजे पर इसका असर पड़ सकता है।

ब्लड प्रेग्नेंसी टेस्ट करवाएं
आमतौर पर घर पर किया जाने वाला प्रेग्नेंसी टेस्ट तो यूरीन टेस्ट होता है लेकिन आप चाहें तो प्रेग्नेंसी को कंफर्म करने के लिए ब्लड प्रेग्नेंसी टेस्ट भी करवा सकती हैं। खासकर तब जब आपको होम प्रेग्नेंसी टेस्ट में आपको बहुत ज्यादा नेगेटिव आ रहा हो लेकिन आप कंफर्म हों कि आप प्रेग्नेंट हैं। ब्लड प्रेग्नेंसी टेस्ट, घर पर किए जाने वाले यूरीन प्रेग्नेंसी टेस्ट की तुलना में ज्यादा सेंसेटिव और सही नतीजे देते हैं।

कराएं ब्लड प्रेग्नेंसी टेस्ट
वैसी महिलाएं जो पहले मिसकैरिज या प्रेग्नेंसी से जुड़ी कोई दूसरी दिक्कतें झेल चुकी हैं और उन्हें हेल्थ से जुड़े दूसरे रिस्क का सामना करना पड़ा है उनके लिए भी ब्लड प्रेग्नेंसी टेस्ट सही रहता है। ऐसा करने से प्रेग्नेंसी के शुरुआती हफ्ते में भी होने वाले बच्चे पर पूरी निगरानी रखी जा सकेगी।