Wed. Feb 19th, 2020

प्रेग्नेंसी से बचाने में कारगर हैं ये तरीके

अनचाहे गर्भ या प्रेग्नेंसी से बचने के लिए महिलाएं क्या-क्या तरीके नहीं अपनातीं, लेकिन यहां हम कुछ ऐसे तरीकों के बारे में बताने जा रहे हैं जो कारगर हैं और पसंद भी किए जाते हैं।

स्पर्मीसाइड टैबलेट
सेक्स एक्सपर्ट्स के मुताबिक, यौन संबंधों के दौरान अगर पार्टनर स्पर्मीसाइड टैबलेट को वजाइना में इंसर्ट कर ले तो इससे बेहतर प्रटेक्शन मिलती है।

सेफ दिनों में सेक्स और कॉन्डम का इस्तेमाल
प्रेग्नेंसी को रोकने के विकल्प के तौर पर लोग सेफ दिनों में सेक्स करते हैं। सेफ दिन यानी पार्टनर के पीरियड्स शुरू होने से एक सप्ताह पहले।

विदड्रॉ टेक्नीक
प्रेग्नेंसी को रोकने के लिए लोग विदड्रॉ टेक्नीक भी यूज करते हैं। इसमें मेल पार्टनर इजैक्युलेशन से ठीक पहले अपना प्राइवेट पार्ट अपनी पार्टनर के प्राइवेट पार्ट से बाहर निकाल लेता है।

इंट्रायूटराइन डिवाइस
यह ञ्ज आकार का होता है जो प्रग्नेंसी को रोकने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। प्लास्टिक और तांबे के बने इस डिवाइस को महिला के यूटरस में स्थापित किया जाता है।

इंट्रायूटराइन सिस्टम
यह भी एक छोटा-सा ञ्ज आकार का डिवाइस होता है, जिसे डॉक्टर या नर्स द्वारा महिला के यूटरस में रखा जाता है। यह डिवाइस प्रोजेस्टेरोन नाम का एक हॉर्मोन रिलीज करता है जो प्रेग्नेंसी को रोकने में मदद करता है।

बर्थ कंट्रोल इम्प्लांट
प्रेग्नेंसी को रोकने के विकल्प के तौर पर इम्प्लांट का भी इस्तेमाल किया जाता है। यह एक छोटा और पतला-सा माचिस की तिल्ली जैसा होता है। इस हाथों में फिट किया जाता है। यह इम्प्लांट बॉडी में हॉर्मोन्स रिलीज करता है, जो प्रेग्नेंसी को रोकने में मददगार होते हैं।

स्पंज
कुछ महिलाएं कॉन्ट्रैसेप्टिव स्पंज का इस्तेमाल भी गर्भनिरोधक के तौर पर करती हैं। यह एक फोम जैसा होता है, जिसमें स्पर्मीसाइड होता है और इसे वजाइना में रखा जाता है ताकि स्पर्म को यूटरस में जाने से रोका जा सके।

वजाइनल रिंग
नैशनल हेल्थ सर्विस के अनुसार, गर्भनिरोधक के तौर पर वजाइनल रिंग का भी इस्तेमाल किया जाता है। यह एक बेहद मुलायम और प्लास्टिक की बनी रिंग होती है जिसे वजाइना में स्थापित किया जाता है। प्रेग्नेंसी रोकने के लिए यह लगातार बॉडी में प्रोजेस्टेरोन और एस्ट्रोजन जैसे हॉर्मोन रिलीज करता रहता है।