Fri. Nov 15th, 2019

अगर सास बनने जा रही हैं तो इन बातों के लिए रहें तैयार

सास बहू का रिश्ता बड़ा ही नाजुक होता है। दोनों में प्यार होने के बाद भी अकसर उनमें तनातनी बनी रहती है। शादी के बाद न सिर्फ लड़की की जिंदगी पूरी तरह बदल जाती है, बल्कि सास की जिंदगी में भी कई तरह के बदलाव होते हैं। अगर लड़के की मां इन बदलावों के लिए ठीक से तैयार न हो तो यह रिश्ता बेहद उलझ जाता है और पूरा परिवार ट्रैक से उतर जाता है। आइए, आपको बताते हैं कि अगर आप सास बनने जा रही हैं तो आपको किन बातों के लिए तैयार रहना चाहिए।

दोनों को है ‘उनसे’ प्यार
अकसर बेटे की शादी के बाद मां को बेटे का प्यार बंटा हुआ महसूस होता है। जो बेटा हर बात पर अपनी मां के पास आता था, वह अब अपनी पत्नी से सलाह लेता है। अकसर यह बात मां के दिल को चोट पहुंचाती है और बहू के लिए उनके मन में कड़वाहट ले आती है। आपको समझना होगा कि आप उसकी मां हैं। आपकी जगह कोई भी नहीं ले सकता है। ठीक उसी तरह नई बहू उसकी पत्नी है जिसके साथ वह अपनी आने वाली जिंदगी गुजारेगा। इसलिए, हर छोटे-बड़े फैसले दोनों मिलकर लेंगे। आप दोनों ही एक ही इंसान से बहुत प्यार करती हैं। इस नाते आप दोनों का रिश्ता और भी मजबूत होना चाहिए।

आपकी जगह लेने की नहीं है चाहत
खाना बनाते समय लड़कियों को एक्सपेरिमेंट करना अच्छा लगता है। अगर वह कुछ नया ट्राई कर रही है तो इसका मतलब यह नहीं है कि वह आपकी जगह लेना चाहती है। अगर उसका खाना अच्छा है और आपके बेटे को भी पसंद है, तो उससे जलने की बजाय उसका हाथ बंटाइए। रसोई में खुशियां रहेंगी तो पूरे घर में खुशियां रहेंगी।

अगर बेटा कर रहा है घर का काम
घर के बेटों को अकसर घर के काम करना नहीं सिखाया जाता है। फिर भी जब वह पत्नी को सारा काम करता देखता है तो उसकी मदद करता है। इसका यह बिल्कुल मतलब नहीं निकालें कि पत्नी कंट्रोलिंग हो रही है।

ताकि दोस्ताना रहे रिश्ता
कई घरों में देखा जाता है कि सास-बहू बेहद दोस्ताना रिश्ता रखती हैं। नई बहू आपका सम्मान तो करती ही है, अगर आप उसे बेटी की तरह प्यार देंगी तो वह भी आपसे वैसा ही प्यार करेगी।

अपने पैरंट्स की है लाडली
कई बार सास बहू के बार-बार मायके जाने से परेशान हो जाती है। आपको समझना चाहिए कि वह भले ही अब आपके घर की बहू है लेकिन अपने पैरंट्स के लिए वह हमेशा उनकी छोटी सी बेटी ही रहेगी। उसका अपने पैरंट्स के पास जाना उतना ही नैचरल है जितना आपके बेटे का आपके पास रहना। मायके जाने का यह मतलब नहीं है कि वह आपका सम्मान नहीं करती है।