September 21, 2020

ऐसे पाएं झड़ते बालों से छुटकारा

आधुनिक समय में लोग काम और परिवार को लेकर अत्यधिक तनाव में रहते हैं। इससे डायहाइड्रोटेस्टोस्टेरोन हार्मोन पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। यह न केवल अवसाद, बल्कि कई ऐसे रोगों को भी जन्म देता है, जिससे व्यक्ति की यौवनावस्था पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

डायहाइड्रोटेस्टोस्टेरोन क्या है 
डीएचटी एक प्रकार का हार्मोन है जो बालों के विकास के लिए सहायक होता है। इस हार्मोन का संबंध व्यक्ति के स्मरण शक्ति, स्वभाव और एकाग्रता से भी रहता है। अगर व्यक्ति के स्वभाव में बदलाव होता है, तो डॉक्टर्स डीएचटी लेवल को नियंत्रित करने के लिए तनाव मुक्त जीवन जीना, डाइट पर विशेष ध्यान देना और सोशल एक्टिविटी करने की सलाह देते हैं। डीएचटी मांसपेशियों के विकास में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

कद्दू के बीज है फायदेमंद
कद्दू के बीज में विटामिन सी, प्रोटीन, फाइबर, सोडियम कार्बोहाइड्रेट, आयरन, व फोलेट पाए जाते हैं। ये मधुमेह, अनिद्रा, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में लाभदायक होते हैं। इसके सेवन से डीएचटी लेवल भी नियंत्रित रहता है। कद्दू के बीज पीसकर अपने बालों में लगाएं। इससे बालों को आराम मिल सकता है। विशेषज्ञ भी झड़ते बालों की समस्या से छुटकारा पाने के लिए बालों में कद्दू के बीज के तेल लगाने की सलाह देते हैं।