September 21, 2020

इन दिनों क्या खाएं, क्या नहीं

बारिश के मौसम में आपको किसी भी बहुत ठंडी, सूखी या कच्ची सब्जियों का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। आपको ठंडी दही, जूस या आइसक्रीम जैसी चीजों से बचना चाहिए। बारिश के मौसम में हमारा इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है। जिससे कोई भी चीज पचने में समय लगता है। कोशिश करें कि इस मौसम में मसालेदार या भारी खाना न खाएं। मानसून में सबसे ज्यादा इनफेक्शन होता है इसलिए कच्ची सब्जियां और सलाद खाने से बचें। पत्तेदार सब्जियों को पकाकर ही खाएं। बारिश के मौसम में आपको शाकाहारी खाना ज्यादा खाना चाहिए। जो भी सब्जियां खाएं उसे अच्छी तरह पका कर अपनी डाइट में शामिल करें। दरअसल शाकाहारी खाना पचाने में आसान होता है और इससे हमारा इम्यून सिस्टम मजबूत होता है। आप खाने में मौसमी फल, सब्जियां, दाल, चावल, शामिल कर सकते हैं। मीठा खाने के लिए आप चावल की खीर या राइस पुडिंग भी खा सकते हैं।

सर्दी-जुकाम
नाक बंद होना, बदन दर्द, गले में खरखराहट शुरू होना

डेंगू
एडीज इजिप्टी नामक मच्छर से फैलता है. बारिश के कारण एकत्रित हुए पानी में ये मच्छर पनप जाते हैं। इसमें जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द, सिर दर्द, थकान, बुखार होता है।

मलेरिया
गंदे पानी में पैदा होने वाले कुछ मच्छरों के काटने से होती है. बुखार से इसकी शुरुआत होती है।

फूड पॉयजनिंग
बारिश के मौसम में ये आम बीमारी है। पेट में ऐंठन, मिचली, उल्टी, दस्त होते हैं।

टाइफायड
बैक्टीरिया के संक्रमण से होने वाली बीमारी है। दूषित भोजन या दूषित पानी के सेवन से होती है। लंबे समय तक तेज बुखार, पेट में दर्द, सिर दर्द आदि होता है.

कैसे करें बचाव

  • साफ पानी पिएं, पानी को उबालकर पीएंगे तो सबसे बेहतर।
  • घर में साफ-सफाई का ध्यान रखें।
  • मच्छर से बचने का इंतजाम करें, मच्छरदानी का इस्तेमाल करें।
  • आसपास पानी एकत्रित ना होने दें।
  • कपड़ों को खासकर बच्चों के कपड़ों को एंटीसेप्टिक से धोएं।
  • हैंड सैनिटाइजर का नियमित प्रयोग करें