Fri. Nov 22nd, 2019

पेट, थाइस और हिप्स के फैट को मक्खन की तरह पिघला देते हैं ये योगासन

आजकल के लाइफस्टाइल के चलते फिट रहना आसान है। इसीलिए एक्सपर्ट फिट रहने के लिए डेली रूटीन में योग को शामिल करने की सलाह देते हैं। अगर आप बिजी हैं, तो घर पर ही योग करें। क्योंकि बॉडी के इन तीनों हिस्से के फैट को योग से ही कम किया जा सकता है। ऐसे 3 योगासन के बारे में जानिए जिनसे आप आसानी से अपने पेट, हिप्स और थाईज के फैट को कम कर सकती हैं। सबसे अच्छी बात यह आसान इतने आसान है कि इसे कोई भी कर सकता है।

फैट के लिए बालासन
बालासन जिसे चाइल्ड पोज के नाम से भी जाना जाता है, यूं तो इस आसान से दिखने वाले योगासन के बहुत सारे हेल्थ बेनिफिट्स है। यह कब्ज को दूर करने से लेकर डाइजेशन को मजबूत बनाने तक में हेल्प करता है। बालासन नर्वस सिस्टम को मजबूत करके मेंटल हेल्थ को मजबूत करता है और ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाकर स्ट्रेस को कम करता है! इसके अलावा इससे बॉडी में स्ट्रेच और तनाव दूर होने लगता है। जिसकी वजह से आप अच्छी नींद ले पाती हैं। लेकिन इसका सबसे अच्छा बेनिफिट्स पेट, थाईज और हिप्स के फैट को कम करने में हेल्प करता है।

बालासन करने का तरीका

  • इस आसन को करने के लिए सबसे वज्रासन में बैठ जाएं।
  • ऐसे में आपको अपनी कमर बिल्कुल सीधी रखनी होगी।
  • अब गहरी सांस लेते हुए बॉडी के ऊपरी हिस्से को सामने की ओर झुकाएं।
  • दोनों हाथ-पीछे की ओर रखें और कोशिश करें कि सिर सामने जमीन को छुए।
  • अब जितना हो सके उतनी देर इसी पोजिशन में रहने की कोशिश करें।
  • फिर सांस छोड़ते हुए शरीर के ऊपरी भाग को उठाते हुए फिर से वज्रासन की पोजिशन में वापस आ जाएं।
  • ऐसा कम से कम 5 बार करें।

नौकासन दूर करें फैट
नौकासन को बोट पोज के नाम से भी जाना जाता है। इस योगासन को रोजाना करने से आपके सभी अंगों, नर्वस, हड्डियों और मसल्स को फायदा मिलता है। साथ ही यह आपके पेट, थाईज और हिप्स को दूर करता है। जब आप इस आसन को करती हैं तो आपका पूरा वजन हिप्स पर होता है, जिससे आपकी बॉडी बहुत जल्दी कपकपाने लगती है, लेकिन कुछ मिनट इसी पोजिशन में रहने से आपको अच्छा रिजल्ट मिलता है। इस योग को करने से पैरों में मजबूती आती है।

नौकासन करने का तरीका

  • इस आसन को करने के लिए सबसे पहले जमीन पर सीधा लेट जाएं।
  • अब अपने कंधे और सिर को ऊपर उठा लें।
  • इसके बाद अपने पैरों को जमीन से सीधा ऊपर उठा लें।
  • ध्यान रहे कि आपके हाथ, पैर और कंधे समांतर में हो।
  • जितना देर हो सकें उतना इस पॉजिशन को बनाये रखें और गहरी सांस लेती रहें।
  • इस आसन को 2-3 बार दोहराएं।

त्रिकोणासन
त्रिकोण का अर्थ होता है त्रिभुज और आसन का अर्थ है योग। इसका मतलब यह हुआ कि इस आसन में आपकी बॉडी की आकृति त्रिकोण की तरह हो जाती है, इसीलिए इसका नाम त्रिकोणासन रखा गया है। इस योग को करने से भी पेट, थाइज और हिप्स का फैट कम होता है। इसके अलावा इस आसन को करने से आप अपनी हड्डियों को मजबूत रख सकती हैं। साथ ही इस योग को करने से कमर दर्द और मोटापा कम होता है और डायबिटीज को काबू करने में बड़ी भूमिका निभाता है।

त्रिकोणासन करने का तरीका

  • पैरों को एक साथ जोड़कर सीधे खड़ी हो जाएं।
  • अब अपने पैरों में 2 से 3 फिट की दूरी में रखें।
  • और अपनी बांहों को कंधों तक फैला दें।
  • अब इसी पोजिशन में धीरे-धीरे बाईं तरफ झुक जाएं।
  • उंगलियों से जमीन को छूने की कोशिश करें।
  • ऐसा करते समय आपकी नजरें छत की तरफ होनी चाहिए।
  • अब अपना दाहिना हाथ नीचे लेते हुए इस तरह पीछे मुड़कर इस पोजिशन में आ जाएं।
  • अपनी उंगलियों से जमीन को छूने की कोशिश करें।
  • यही क्रिया आप दूसरी तरफ से भी करें।
  • अब नॉर्मल पोजिशन में आ जाएं।